योग शिक्षक सम्मान समारोह का हुआ आयोजन

0

सिवान: महाराजगंज अनुमंडल शहर के पाठशाला ग्लोबल पब्लिक स्कूल परिसर में योग शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। समारोह की अध्यक्षता सिवान जिला योग प्रचारक अंगद कुमार ने किया अपने अध्यक्षीय भाषण के दौरान सीवान जिला योग प्रचारक अंगद कुमार ने कहा कि योग की शिक्षा, योग पद्धति भारत की विरासत थी, और आज के समय में उस विरासत का नामोनिशान मिटा देने के लिए कुछ अप्रत्यक्ष रूप से संगठने काम कर रही है और अंदर ही अंदर हम लोगों को पाश्चात्य संस्कृति के तरफ धकेलते जा रही है। आज पूरा का पूरा युवा पीढ़ी भौतिक सुख के तरफ ज्यादा ध्यान दे रहे हैं । अंग्रेजी दवाओं का प्रचलन इस प्रकार बढ़ते चला जा रहा है कि हम लोग उसके बगैर ऐसा महसूस होता है कि जी नहीं पाएंगे।

परंतु सतयुग, द्वापर, त्रेतायुग यहां तक की आज से 50 वर्ष पहले तक का आकलन किया जाए तो आयुर्वेद चिकित्सा जगत का मूल ब्रह्मास्त्र आयुर्वेद ही था। उदाहरण स्वरुप त्रेतायुग मे जब लक्ष्मण को शक्ति बाण लगा तब एलोपैथ चिकित्सा पद्धति नहीं थी आयुर्वेद ही प्रणारक्षा किया।

मौके पर भूतपूर्व सैनिक अमरेन्द्र कुमार उर्फ गब्बर सिंह, शिक्षक योगशिक्षक एस.एन.शाह डैविड सर,बीरेन्द्र सिहं,राजेश कुमार सिंह, कृष्णा सिहं, दरौंधा प्रखंड के फतेहपुर में महिलाओं को योग की शिक्षा देने में कविता कुमारी को तथा रूकुन्दीपुर मठ पर आशा कुमारी को महिलाओं को योग की शिक्षा देने को लेकर सम्मानित किया गया।जहाँ योग शिक्षक धूपनाथ सत्यनारायण साह, राजेश कुमार, राकेश कुमार, गायत्री गोस्वामी, खुशबू भारती, आशा कुमारी ,कविता कुमारी, कमलावती देवी, रब्या खातून, प्रहलाद सिंह, डॉक्टर वकील शर्मा तथा भरत प्रसाद मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here