वाल्मीकिनगर JDU सांसद व पूर्व मंत्री बैद्यनाथ प्रसाद महतो का निधन,तबीयत बिगड़ने के कारण दिल्ली एम्स में चल रहा था इलाज

0

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने JDU सांसद बैद्यनाथ प्रसाद महतो का राजकीय सम्‍मान के साथ अंतिम संस्‍कार कराने का दिया निर्देश

बेतिया। वाल्मीकिनगर जदयू सांसद बैद्यनाथ प्रसाद महतो का निधन शुक्रवार को दिल्ली के एम्‍स में इलाज के दौरान हो गई। उन्‍हें 11 फरवरी को दिल्‍ली एम्‍स में भर्ती कराया गया था। उनके निधन की खबर से बिहार में शोक की लहर छा गयी है। बता दे कि बैद्यनाथ महतो की राजनीतिक में काफी अच्छी पकड़ थी। वे अपने राजनीतिक जीवन में दो बार सांसद तथा दो बार विधायक रहे थे। इसके साथ ही राजनीति में आने से पहले बैंक की नौकरी में थे,नौकरी से इस्‍तीफा देने के बाद राजनीति में आए थे। जदयू सांसद बैद्यनाथ महतो की तबीयत दो सप्‍ताह पहले कुछ ज्‍यादा बिगड़ गयी थी। तब उन्‍हें आनन-फानन में दिल्‍ली एम्‍स में एडमिट कराया गया था। तबीयत में सुधार नहीं होने की वजह से उन्‍हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। शुक्रवार की शाम उन्‍होंने अंतिम सांस ली। उनके निधन के सूचना पाकर सीएम नीतीश कुमार,विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी समेत कई लोगों ने बैद्यनाथ महतो के निधन पर गहरा शोक जताया है.बैद्यनाथ प्रसाद महतो का जन्म 1947 में दो जून को हुआ था। पश्चिमी चंपारण जिले में जन्‍म लेने वाले महतो राजनेता के तौर पर वर्ष 2009 में लोकसभा पहुंचे थे। इसके बाद वे फिर 2019 में वाल्मीकिनगर लोकसभा क्षेत्र से जदयू के टिकट पर चुनाव जीते और सांसद बने। उन्‍होंने कांग्रेस उम्‍मीदवार शाश्वत केदार को पराजित किया था। दो बार सांसद रहने वाले बैद्यनाथ महतो दो बार विधायक भी रहे थे। उन्‍होंने दोनों बार नौतन विधानसभा से जीत दर्ज की थी। 2005 से 2008 तक बिहार सरकार में मंत्री भी रहे थे। उन्‍होंने 2000 में पहली बार विधायक बने थे। राजनीति में आने से पहले महतो बेतिया में 1992 से लेकर 1995 तक राष्ट्रीय सहकारी बैंक में मैनेजर के पद पर तैनात थे। सीएम नीतीश कुमार ने शोक संदेश देते हुए कहा कि बैद्यनाथ महतो से मेरा काफी लंबे समय से राजनीतिक रिश्ता था और वे विश्वस्त सहयोगी थे। उनके निधन से मैं व्यक्तिगत रूप से मर्माहत हूं। उनका निधन राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्र के लिए अपूरणीय क्षति है। उनका सामाजिक कार्यों के प्रति उनकी गहरी अभिरुचि थी। उन्होंने बिहार सरकार के मंत्री पद की जिम्मेदारियों का भी कुशलता पूर्वक निर्वहन किया था। वर्ष 2009 और 2019 में वह वाल्मीकिनगर के सांसद निर्वाचित हुए। अपने आदर्शों की बदौलत सार्वजनिक जीवन में उन्होंने उच्च स्थान प्राप्त किया। व्यक्तित्व की बदौलत समाज के सभी वर्गों का आदर एवं सम्मान प्राप्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here