तू कर वही जो तू चाहता है! मगर होगा वही जो मैं चाहता हूँ।

0

सीवान: महाराजगंज प्रखंड के पटेढ़ी योगी ब्रह्म स्थान पर आज श्री विष्णु महायज्ञ के चौथे दिन भक्तों ने अपनी पूरी श्रद्धा भाव से यज्ञ में भाग लिया। मंगलवार की संध्या श्री भागवत कथा में भक्तों ने श्री भागवत कथा का श्रवण किया। महायज्ञ स्थल के प्रांगण में साई सेवा सदन के तरफ से प्रवचन सुनने पहुंचे सभी श्रद्धालुओं के लिए निशुल्क जांच शिविर का आयोजन किया है। वराणसी से पधारे भागवत कथा वाचक श्री दूर्गा प्रकाश जी महाराज ने अपने प्रवचन के दौरान कहा कि कहा कि हे मानव तू कर वही जो तू चाहता है। मगर होगा वही जो में चाहता हूं। तो तू भला कर में भला चाहता हूं। कर्म तुम्हारे है। परंतु आशीष उपर वाले कि है। महाराज ने कहा कि पूरे ब्रह्मांड में 84 लाख योनियाँ है। और 84 लाख योनियों में सबसे उत्तम योनि मनुष्य की हैं। मानव योनि मिलना भगवान की ही कृपा है। कहा कि इतनी सारी योनियों में भगवान ने मनुष्य को सबसे ऊंचा योनि प्रदान किया है।

उत्तम कर्म करनी चाहिए। ताकि फिर मनुष्य की योनि में उसका दोबारा से जन्म हो। भगवान से मानव का तन मिलना अति सौभाग्य की बात है,जब सौभाग्य से प्राप्त हुआ है तो सत्कर्म करना चाहिए चुकी सत्य कर्म का फल अपने मनोवांछित फल को प्रदान करता है। लगातार नौवें दिन तक चलने वाले श्री विष्णु महायज्ञ को सफल बनाने में देवरिया पंचायत मुखिया अजीत प्रसाद उर्फ आजादी बाबू, पटेढ़ी मुखिया उमेश शाही, बब्लू शाही, अवधेश पांडेय उर्फ भिखारी बाबा, अजय पटेल, वीर बहादुर प्रसाद, केबी कुशवाहा, अनिल चौधरी,ओमप्रकाश चौबे, परामर्श केंद्र शिविर चिकित्सक फुलेना कुमार, देवरिया पैक्स अध्यक्ष अनिल कुमार सिंह समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here