ग्रामीण उस समय उग्र हो गए जब प्रशासन डीजे को धीमी आवाज में बजाने को कहा

0

घटना में आक्रोशित लोगों ने थाने परिसर का घेराव कर किया पथराव…

फ़ोटो पथराव के बाद क्षतिग्रस्त वाहन।
फ़ोटो पथराव के बाद क्षतिग्रस्त वाहन।

सीवान: लकड़ीनवीगंज में सोमवार की देर रात्रि आक्रोशित लोगों ने थाना परिसर में जमकर पत्थरबाजी की। पत्थरबाजी में थाना परिसर में खड़ी कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई साथ ही कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गए. कहा जा रहा है कि थाना परिसर में आक्रोशित लोगों की बढ़ती भीड़ और पत्थरबाजी को देख पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करना शुरू कर दिया और लाठी चटकाए जिसके बाद ग्रामीणों और भी उग्र हो गए और थाने का घेराव कर घंटो प्रदर्शन किया।

दरअसल पूरा मामला लकड़ीनवीगंज ओपी के गोपालपुर ब्रह्म स्थान के समीप सरस्वती पूजा के अगले दिन तेज आवाज़ में बज रहे डीजे की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। लकड़ीनवीगंज ओपी थाने की पुलिस ने डीजे को धीमी आवाज में बजाने को कहा। लेकिन पुलिस की बात मानने से डीजे ऑपरेटर साफ तौर पर इंकार कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने डीजे ऑपरेटर की पिटाई कर दी। सूचना के अनुसार यह भी कहा जा रहा है कि पूजा समिति के लोगों से पुलिस प्रशासन कि काफी बकझक एवं विरोध के बाद पुलिस डीजे ऑपरेटर को छोड़ वापस थाने चली आई।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताते चलें कि डीजे ऑपरेटर की पिटाई और पुलिस के वापस जाने के बाद घटनास्थल पर गांव के लोगों की जमवाड़ा लगना शुरू हो गया धीरे-धीरे लोगों की गुस्सा पुलिस के खिलाफ भड़कने लगा। बताया जा रहा है कि गोपालपुर गांव से थाना पुलिस स्टेशन की दूरी करीब 7 किलोमीटर की पर हैं. उसी रात तकरीबन 10:00 बजे के आसपास सैकड़ों की संख्या में लोगों ने थाने का घेराव कर दिया। नाराज लोगों की प्रदर्शन और घेराव से पुलिस भी लोगों को काफी समझा बुझाकर मामले को शांत कराने की कोशिश की पर आक्रोशित लोगों ने एक न सुनी। नवीगंज ओपी के इंचार्ज रविंद्र पाल भी काफी समय तक लोगों को समझाने बुझाने का प्रयत्न किया अंततः मामला बिगड़ते देख पुलिस ने आक्रोशित लोगों पर लाठीचार्ज करना शुरू कर दिया। घटनास्थल पर भगदड़ की स्थिति कायम हो गई। ग्रामीण भी पुलिसकर्मियों पर ईट पत्थर फेंकने लगे।

घटना के बाद इलाके में फ्लैग मार्च करते महाराजगंज एसडीएम,एएसपी
फ़ोटो: इलाके में फ्लैग मार्च करते महाराजगंज एसडीएम,एएसपी

ग्रामीणों की बढ़ती भीड़ और भगदड़ के बीच पुलिस को भी पीछे हटना पड़ा और पुलिसकर्मी भाग कर पुलिस स्टेशन में अपनी जान बचाई और बाहर लगे गेट को बंद कर दिया। दरअसल पुलिस की लाठीचार्ज के बाद आक्रोशित लोग एकाएक पुलिसकर्मियों के तरफ दौड़ पड़े थे. आक्रोशित ग्रामीण दौड़ते हुए पुलिस स्टेशन भी पहुंच पड़े और वहां चारों तरफ से थाने का घेराव कर पत्थरबाजी भी की जिसके बाद थाना परिसर में खड़ी पुलिस सोमो गाड़ी की शीशे टूट गए। और कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई।

क्या कहते हैं आक्रोशित ग्रामीण।

ग्रामीणों का कहना है कि बच्चों ने लकड़ीनवीगंज पुलिस को आवेदन देकर लाइसेंस की मांग की गई थी। मांग किए गए लाइसेंस में बच्चों ने आवेदन में यह दिखाया था कि 10 फरवरी को पूजा 11 फरवरी को नाटक का मंचन के अलावा 13 फरवरी को मूर्ति विसर्जन करने का आवेदन में जिक्र किया था। ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस संदर्भ में थाने से बच्चों को कोई भी लिखित पत्र नहीं दिया गया था।

घटना पर बोले एएसपी संजय कुमार

लकड़ीनवीगंज थाने में ग्रामीणों द्वारा तोड़फोड़ और प्रदर्शन के बाद मौके पर पहुंचे महाराजगंज अनुमंडल एएसपी संजय कुमार ने कहा कि पूजा समिति को 11 फरवरी को मूर्ति विसर्जन करने का आदेश दिया गया था। एएसपी संजय कुमार ने कहा कि अगर ऐसी बात थी तो पुलिस 10:00 बजे रात्रि तक विसर्जन क्यों नहीं करवाया उन्होंने इस समस्या को गंभीर बताते हुए कहा कि यह सब जांच का विषय हैं। उन्होंने यह भी कहा कि पूजा समिति लाइसेंस के वक्त बच्चों को आदेश की एक प्रति बच्चों को दी गई होगी तो उनसे रिसीव भी कराया गया होगा। गौरतलब हो कि सोमवार की रात्रि अभी बच्चे नाटक की तैयारी कर रहे थे तभी किसी ने तेज आवाज़ में साउंड बजाने की शिकायत पुलिस से कर दी। कहा जा रहा है कि संध्या गश्ती में निकली पुलिस मौके पर पहुंची। डीजे ऑपरेटर से साउंड को कम वॉल्यूम में बजाने का कहा गया था। जिसके बाद डीजे ऑपरेटर प्रशासन की बात ना मानते हुए कम वॉल्यूम में साउंड बजाने से इंकार कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने डीजे ऑपरेटर की पिटाई की थी।

घटना के बाद प्रशासन ने किया फ्लैग मार्च।

लकड़ीनवीगंज मैं हुई घटना के बाद मंगलवार की शाम अनुमंडल प्रशासन ने पूरे इलाके में फ्लैग मार्च किया।फ्लैग मार्च मैं महाराजगंज एसडीएम मंजीत कुमार, एएसपी संजय कुमार समेत पुलिस फोर्स बल गोपालपुर, बसौली समेत आदि जगहों पर सरस्वती पूजा को शांतिपूर्ण ढंग से विसर्जन करने की आदेश जारी की हैं. वहीं घटना संबंधित विषय पर बोलते हुए महाराजगंज एएसपी संजय कुमार ने कहा कि पथराव तो हुआ है लेकिन पुलिस प्रशासन द्वारा किसी भी प्रकार की बल की प्रयोग नहीं की गई हैं. साथ ही एएसपी संजय कुमार ने यह भी कहा कि इस घटना में कोई भी पुलिसकर्मी जख्मी नहीं हुए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here