भतीजे की गला रेतकर हत्या चाचा ने कहा संपत्ति की थी लालच

0

रामाशंकर सिंह के दिव्यांग पोता 12 वर्षीय ऋतिक राज की अपराधियों ने गला रेतकर हत्या कर दी थी।

सीवान। जीवन निर्वाह के लिए इंसान को ज़मीन-जायदाद धन की जरूरत पड़ती है.परंतु वह धन किस काम का जो दूसरे की लहू से सनी हो। ऐसे ही सीवान में एक चाचा ने अपने भतीजे को संपत्ति के लालच में गला रेतकर मौत के घाट उतार दी। मामला मुफस्सिल थाना क्षेत्र के जफरा गांव की है.बताया जाता है कि 2 मार्च की रात्रि भाजपा मंडल उपाध्यक्ष रामाशंकर सिंह के दिव्यांग पौत्र ऋतिक राज की हत्या गला रेतकर की गई थी। इसी मामले में पुलिस ने रविवार को मृतक ऋतिक राज के चाचा को गिरफ्तार किया है। चाचा ने संपत्ति को लेकर अपने भतीजे की हत्या गांव के एक सदस्य के साथ मिलकर की थी। गिरफ्तार चाचा राकेश सिंह हैं। मुफस्सिल थानाध्यक्ष रामविचार राम ने बताया कि जफरा गांव में दो मार्च की रात्रि रामाशंकर सिंह के दिव्यांग पोता 12 वर्षीय ऋतिक राज की अपराधियों ने गला रेतकर हत्या कर दी थी। पुलिस इस मामले की जांच कर रही थी। जांच के क्रम में उसके चाचा राकेश सिंह से गहनता से पूछताछ की गई तो उसने अपनी संलिप्ता स्वीकार कर ली। बताया कि उसने अपने भतीजे की हत्या संपत्ति के लिए की थी। राकेश के साथी ऋतिक को घटनास्थल पर लेकर आए थे और दोनों ने मिलकर हत्या की थी। बता दें कि जफरा निवासी रामाशंकर सिंह के पोता ऋतिक के माता- पिता की मौत पूर्व में ही हो चुकी है। वहीं हत्या के दिन रामाशंकर सिंह अपनी पत्नी के साथ दिल्ली में अपनी आंख का इलाज कराने गए हुए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here