न्यास समिति के निर्णय से आमी मंदिर में पूजा-पाठ पर भक्तों की रोक

0

छपरा। भारत के प्रसिद्ध देवी मंदिरो मे सुमार सारण के सिद्ध पीठ आमी के अंबिका मंदिर मे अब आम भक्तों के पूजपन पर रोक लगा दिया गया। यह रोक कोरोना जैसे महामारी से बचने के लिए 22 मार्च से 2 अप्रैल तक जारी रहेगा।अंबिका मंदिर न्यास समिति ने चैत्र नवरात्रि मे होने वाले भक्तो की अप्रत्यासित भीड को देखते हुए जनहित मे निर्णय लिया। मंदिर पर उपस्थित सभी सदस्यो ने एक स्वर से कहा की भारत के कई प्रसिद्ध मंदिरो के पट्ट कोरोना के प्रकोप से अपने भक्तो को बॅचाने के लिए बंद कर दिए गए है ऐसे मे न्यास समिति ने भी आमी मंदिर के भक्तो के हित मे ऐसा निर्णय लिया है।हलाकि मंदिर के प्रातः कालीन पूजा व आरती तथा संध्या कालीन श्रृंगार आरती का कार्य मंदिर के सीर्फ पूजेरी पूर्वत करते रहेंगे। न्यास समिति सदस्यो ने यह भीं कहा कि यदि संक्रमण की स्थिति या प्रभाव कम नही हुआ तो पट्ट बंद करने के दिवस को बढाया भी जा सकता है।मंदिर के पुजेरियों ने सभीं देवी भक्तो से अनुरोध किया की आप सभीं विश्व आपदा मे सरकार के निर्देश व डाॅक्टरो के सुझाव को मानते हुए भीड-भाड वाले जगहों पर एकत्र न हो और अपने घर पर ही माता की आराधना व नवरात्रि का पाठ करे।शिवकुमार तिवारी उर्फ भोला बाबा ने कहा माता अम्विका सभीं भक्तो की रक्षा करेगी घबराये संकट टलने पर पट्ट आम लोगो के लिए खुल जाएगा और सभी लोग पुनः दर्शन पूजा करेंगे।वही प्रेम तिवारी ने कहा कि पहले जीवन रक्षा जरूरी है मैया की पूजा तो जीवन भर करना है।गणेश तिवारी ने कहा मैया सबकी रक्षा करेगी इस बार अपने घर से ही उनका ध्यान करे। लक्ष्मिश्वर तिवारी उर्फ मुनचुन बाबा ने कहा कि मैया सबकी रक्षा करती है इस विपदा काल मे भी रक्षा करेगी लेकिन आप सभी भक्त अपनी भक्ति भाव से चैत्र नवरात्रि भर आत्म दर्शन करे व उनके फोटो पर पूजन कर अपना श्रद्धा सुमन अर्पित करे। निर्णय कर्ताओ मे मंदिर न्यास समिति के सचिव कामेश्वर तिवारी सदस्य सुनील तिवारी,अक्ष्यनाथ तिवारी,जितेन्द्र तिवारी उर्फ भीखम बाबा,ओम प्रकाश सिंह, शिवपूजन राय एवं अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे.

इनपुट:चन्द्रप्रकाश राज/राजेश तिवारी