चोरी-छिपे चल रहे कोचिंग संस्थाओं पर महामारी अधिनियम के तहत होगी कार्रवाई: एसडीओ

0

महाराजगंज। अनुमंडलीय प्रशासन कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने को लेकर तत्पर है,सरकारी तथा गैर सरकारी विद्यालयों व कोचिंग संस्थानों से लेकर शॉपिंग मॉल को बंद करने का निर्देश दिया गया है।बुखार और खांसी के बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए चिकित्सक अलर्ट पर है। साथ ही आइसोलेशन कक्ष की भी व्यवस्था की गई है। खांसी,बुखार,जुकाम के मरीजों को अलग से देखने की व्यवस्था है। महाराजगंज अनुमंडलीय अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड बनाया गया। जिसमें दस बेड बनाए गए है,केंद्र प्रभारी डॉ.सुजाता सुब्रत ने बताया कि अस्पताल में आ रहे मरीजों में बुखार,जुकाम और खांसी के मरीजों की तादात देखने को मिल रही है। उन्होंने बताया कि प्रतिदिन 40 से अधिक मरीज खांसी जुकाम के आ रहे है।

जिनको देखने के लिए अलग से व्यवस्था की गई है। स्टाफ को 24 घंटे अलर्ट पर रखा है, हालाकि अभी तक महाराजगंज अनुमंडलीय अस्पताल में कोई भी ऐसा मरीज नहीं आया है जो कोरोना से प्रभावित है। महाराजगंज एसडीओ मंजीत कुमार ने बताया कि लोगों को वायरस से बचाव के लिए जन-जागरूक किया जा रहा है। जगह-जगहो पर आइसोलेशन कक्ष बनाए जाने की प्रक्रिया चल रही है। हैंड सैनिटाइजर मास्क इत्यादि के उपयोग करने की बात बताई गई है,उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को गुमराह होने से बचने की बात कही है.एसडीओ मंजीत कुमार ने 22 मार्च को लगने वाले जनता कर्फ्यू पर कहा कि प्रशासन पूरी तरह से जनता की भागीदारी सुनिश्चित कराने कि प्रयत्न कर रही है.उन्होंने अनुमंडल के नागरिकों को इस महामारी से आगाह करते हुए कहां है कि केंद्र सरकार ने जनहित में निर्णय लिया है जो एक अहम कदम है।

उन्होंने बताया कि सभी जानते हैं कि वायरस बहुत तेजी से संक्रमित होता है। आज पूरा देश वायरस संक्रमित के द्वितीय चरण में है तृतीय चरण में यह विस्फोट का रूप धारण करते हुए तेजी से फैलना शुरू कर देता है, माननीय प्रधानमंत्री जी ने राष्ट्र को संबोधन में बताया है कि लोगों को इस बीमारी के लक्षण से बचने के लिए स्वयं को स्वस्थ एवं स्वच्छ रखने की जरूरत है। इसके साथ ही दूसरों को भी जागरूक करें। सभी लोगों को अति आवश्यक होने पर ही घर से निकलने तथा भीड़-भाड़ से बचने,खुद को स्वस्थ एवम स्वच्छ रहने हेतु,माइकिंग के द्वारा जागरूक किया जा रहा है। जन प्रतिनिधि,समाज के गणमान्य लोगों को भी इसमें सहयोग के लिए आह्वान किया गया है.

चोरी-छिपे चल रहे कोचिंग संस्थाओं पर होगी कार्रवाई

एसडीओ मंजीत कुमार ने कहा कि प्रखंड में कोचिंग संस्थाओं को प्रचार-प्रसार के माध्यम से बंद कराया गया है। इसके बावजूद भी चोरी छिपे किसी भी कोचिंग संस्था का संचालन होने की सूचना मिलती है तो उनके खिलाफ महामारी अधिनियम 1897 की धारा 3 तथा आईपीसी की धारा 296 व 297 के तहत उनपर कार्रवाई की जायेगी। साथ ही साथ उनके संस्था को सील करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजने की प्रवधान है.

इनपुट: प्रियांशु कुमार सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here