सीवान की सृष्टि सिंह ने स्वर्ण पदक जीत किया जिले का नाम रोशन

0

सिवान: जिले के गुठनी मैरिटार गांव निवासी सृष्टि सिंह ने स्वर्ण पदक जीतकर पूरे जिले का नाम रोशन कर दिया है। असम के गुहाटी में आयोजित अखिल भारतीय अंतर रेलवे वेटलिफ्टिंग चैम्पियनशिप में पूर्वोत्तर रेलवे की सृष्टि सिंह ने स्वर्ण पदक जीता है।

सृष्टि ने यह पदक अपने प्रतिद्वंद्वी नार्थ सेंट्रल रेलवे की मुनि कादियान को भारी अंतर से हराकर हासिल की। प्रतियोगिता में सृष्टि ने कुल 213 किलो भार उठाया, जबकि प्रतिद्वंद्वी मुनी कादियान ने 130 किलो भार उठा सकी। इस प्रतियोगिता में कांस्य पदक सेंट्रल रेलवे की जेबा को मिला। सृष्टि सिंह इसके पहले जापान, इंडोनेशिया, जकार्ता सहित कई देशों में भारत के लिए पदक जीत चुकी हैं।

सृष्टि मूल रूप से सिवान जिले के मैरिटार गांव की रहने वाली हैं और पिता श्री विंध्याचल सिंह मुखिया तथा माता शिला सिंह पैक्स अध्यक्ष की तीसरी संतान हैं। अपने प्रारम्भिक जीवन से ही खेलों के प्रति जुनून ने उन्हें इस मुकाम तक पहुचाया है। सृष्टि ने बताया कि स्कूली जीवन में खेल को लेकर में काफी उत्साहित रहती थी।

लेकिन परिस्थितियां मेरा साथ नहीं देती। पुरूष प्रधान इस देश में लड़कियों को उनके अभिभावक अपने से दूर नहीं जाने देना चाहते कुल मिलाकर उनका मन हमेशा सशंकित रहता है। इन्ही परिस्थितियों में मैं देवरिया जिले के भाटपार रानी स्थित राजर्षि टण्डन विद्यालय की ओर से खेलना शुरू की। मैं लखनऊ के गुरु गोविंद सिंह स्पोर्ट्स हॉस्टल में भी रही।

सृष्टि ने एक सवाल में बताया कि उनकी शुरुआती जीवन मध्यवर्गीय परिवार में यह सब आसान नहीं था। उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी बुलंदियों पर पहुंचने में मेरी माता-पिता का भरपूर सहयोग मिला। माता-पिता ने कभी किसी तरह की जरूरतों की कमी नहीं होने दिया। बताया कि वह प्रतिदिन तकरीबन 5 घंटे की कड़ी मेहनत करती है।

उन्होंने कहा कि आगामी मार्च में नेशनल गेम के लिए मैं तैयारी में लगी आग लगी हुई हूं ताकि खेल में मेरी प्रदर्शन अच्छा रहे। कहा कि हमारे जीवन में माता-पिता ही सर्वश्रेष्ठ हैं जीवन में कभी उसे भुला नहीं सकती और प्रार्थना करूंगी कि सभी को ऐसे ही माता पिता मिले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here