कोरोना की वजह से घर लौट रहा था सॉफ्टवेयर इंजीनियर ट्रेन से गिरकर हुई मौत

0
कुंदन की मौत के बाद रोते बिलखते परिजन।
कुंदन की मौत के बाद रोते बिलखते परिजन।

दरौंदा। रेलवे स्टेशन पर शनिवार की संध्या चंडीगढ़ सुपरफास्ट ट्रेन की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई। मृतक की पहचान महाराजगंज थाना क्षेत्र के पिपरा खूर्द गांव निवासी पूर्व शिक्षक स्व.धनवंतरी पांडे के 29 वर्षिय पुत्र कुन्दन कुमार पांडे के रूप में हुई हैं। कुंदन की मौत की खबर जब परिजनों को हुई तो परिवार में कोहराम मच गया। बताया जाता है कि मृतक अपने चार भाइयों में सबसे छोटा भाई था। मृतक की 2 वर्ष पूर्व उत्तर प्रदेश के मेहरौना में शादी हुई थी। वहीं मृतक का चार माह का एक पुत्र हैं। शव को देख परिजन दहाड़ मारकर चित्कार कर रहे हैं। मृतक की पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल हैं। वह बार बार शव को देख बेहोश हो जा रही है। पत्नी की चित्कार से गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया है। घटना के संबंध में बताया जाता है कि मृतक कुंदन पुणे के किसी प्राइवेट कम्पनी में साफ्टवेयर इंजिनियर के पद पर कार्यरत था। जो कोरोना वायरस की महामारी की वजह से घर लौट रहा था।

इंडिगो फ्लाइट से पटना एयरपोर्ट पर उतरा था कुंदन

जानकारों ने बताया कि कुंदन पुणे में इंडिगो फ्लाइट में सवार होकर पटना एयरपोर्ट पर आया इसके बाद पटना से चंडीगढ़ सुपरफास्ट एक्सप्रेस में सवार होकर अपने घर के लिए आ रहा था। इसी बीच दरौंदा स्टेशन के अप लाईन पर मालगाड़ी खड़ी होने के वजह से चंडीगढ़ सुपर फास्ट एक्सप्रेस एक नंबर प्लेटफॉर्म को धीरे-धीरे पार करने लगी। इतने में कुंदन गेट पर आकर खड़ा हुआ। और अनियंत्रित होकर प्लेटफार्म पर जा गीरा और ट्रेन की चपेट में आ गया। गंभीर रूप से घायल युवक को स्थानीय लोग तथा आरपीएफ की मदद से आनन-फानन में दरौंदा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार कर चिंताजनक हालत में कुंदन को सीवान सदर अस्पताल रेफर कर दिया। वही एंबुलेंस से युवक को सीवान सदर अस्पताल ले जाते वक्त कुंदन की मौत हो गई। परिजनों ने बताया कि कुंदन के सिर में काफी गंभीर चोटें आई थी। जिसके चलते उसका सिर का नस फट गया था। कुंदन के पॉकेट से बरामद आधार कार्ड से सत्यापन करते हुए आरपीएफ ने इसकी जानकारी कुंदन के परिजनों को दी।