सीवान: पत्रकारों से मारपीट के मामले में साक्ष्य प्रस्तुत करने की मांग

0

सूत्रों की मानें तो पत्रकारों के साथ मारपीट के मामले में तत्कलीन डीएम के खिलाफ भी जल्द साक्ष्य मांगे जाने की संभावना जताई जा रही है।

सीवान। पत्रकारों से मारपीट के मामले में सामान्य प्रशासन विभाग पटना ने इस मसले को गंभीरता पूर्वक लिया है। गौरतलब हो कि पत्रकार मिन्टू व अशोक पांडेय ने तत्कालीन डीएम सुश्री रंजीता व अनुमंडलीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी संजय कुमार पर 26 अक्टूबर 2019 को कलेक्ट्रेट में बुलाकर मारपीट करने का आरोप लगाया था। मिन्टू ने कहा था कि पत्रकारों के एक व्हाटसअप ग्रुप में उसने व अशोक पांडेय ने अपने पत्रकार साथियों के खिलाफ टिपण्णी की थी जिसे तत्कालीन डीएम सुश्री रंजीता ने खुद पर ले लिया जबकि उनके खिलाफ टिप्पणी नहीं की गई थी। बावजूद दोनों अफसरों ने झांसा देकर बुलाने के बाद उन लोगों के साथ मारपीट की। डीएम रंजीता के साथ संजय कुमार पर भी मिन्टू ने मारपीट करने के साथ ही गलत तरीके से एफआईआर दर्ज कर टार्चर का आरोप लगाया है। इस मामले में विभाग के अवर सचिव शिव महादेव प्रसाद ने संज्ञान लेते हुए मिन्टू को पत्र भेजा है। कहा है कि आप शपथपत्र के साथ साक्ष्य प्रस्तुत करें कि आपके साथ सीवान के अनुमंडलीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी संजय कुमार ने मारपीट की है। इसके साथ ही डीएम के कहने पर गलत तरीके से एफआईआर दर्ज कराई है। पत्रकारों के सरकार के मुख्य सचिव के यहां दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर कार्रवाई का संकेत देते हुए सामान्य प्रशासन ने मिन्टू से एक माह के अंदर साक्ष्य मांगा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here