सीवान: अस्पताल में नहीं आते चिकित्सक जाली हस्ताक्षर से होता है वेतन का उठाव

0

विधान पार्षद प्रतिनिधि हीरालाल प्रसाद की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सकों पर गंभीर आरोप।

दरौंदा। प्रखंड के डिब्बी गांव निवासी सह विधान पार्षद शिव प्रसन्न यादव के प्रतिनिधि हीरालाल प्रसाद ने जिलाधिकारी सीवान को पत्र लिखकर दरौंदा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत अनुपस्थित चिकित्सकों पर कार्रवाई करने की मांग की है,उन्होंने कहा है कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दरौंदा में कार्यरत डॉ.हरिशंकर सिंह,डॉ.पवन कुमार सिंह, डॉ.अमरेश कुमार सिंह तथा डॉ.उत्तम कुमार यह चारों लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कभी भी ड्यूटी करने नहीं आते हैं.उन्होंने आरोप लगाया है की चारों चिकित्सक अस्पताल से गायब रहते हुए केवल वेतन का भुगतान ले रहे हैं.उन्होंने चिकित्सा स्वास्थ्य प्रबंधक दरौंदा अंजनी कुमार तथा सीवान सिविल सर्जन डॉ.अशेष कुमार से सेटिंग कर उपस्थिति पंजी पर जाली हस्ताक्षर करने की बात कही है, आरोप है कि यह सभी लोग प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दरौंदा में नहीं आते हैं.वही इन सभी का जाली हस्ताक्षर उपस्थिति पंजी पर स्वास्थ्य प्रबंधक अंजनी कुमार के द्वारा करा ली जाती है.उन्होंने जिलाधिकारी से मांग करते हुए आरोपितों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की मांग की है, विदित हो कि सोमवार को सिविल सर्जन डॉ अशेष कुमार ने दरौंदा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने अस्पताल परिसर में साफ-सफाई तथा कोरोना के संक्रमण से बचाव को लेकर कई अहम टिप्स दिए.

क्या कहते हैं चिकित्सक पवन कुमार सिंह

1. आरोप है कि चिकित्सक अनुपस्थित रहते है,परंतु यहां चिकित्सक रोस्टर के हिसाब से ही ड्यूटी करते हैं,आरोप निराधार और बेबुनियाद है, प्रत्येक दिन यहां चिकित्सकों की अलग-अलग ड्यूटी होती है और मरीजों का इलाज होता है.

●● क्या कहते हैं दरौंदा स्वास्थ्य प्रबंधक अंजनी कुमार

2. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रबंधक अंजनी कुमार ने कहा कि अस्पताल के सभी चिकित्सक अपने-अपने कार्यसूची के आधार पर ड्यूटी करते हैं,उनके ऊपर आरोप निराधार हैं.