सीवान: सीसीटीबी फुटेज उपलब्ध होने के बावजूद भी लूटकांड में पुलिस के हाथ खाली

0

दहशत फैलाने के लिए हवा में फायरिंग करते हुए दुर्गा मंदिर की ओर निकल गए थे। बाइक सवार तीनों लुटेरे

सीवान। अपराध का ग्राफ कहें या ग्राफ में अपराध यह समझ से परे है। आए दिन अपराधी लूट मारपीट हत्या जैसी कई संगीन वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। हालांकि पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई करने में विफल है। सीवान के फतेहपुर बाईपास रोड में 9 मार्च को सीएमएस (CMS) कर्मचारी से हुई 18 लाख रुपए लूट की वारदात में पुलिस के हाथ अभी भी खाली हैं। पुलिस लगातार अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए जगह-जगह पर छापेमारी कर रही है हालांकि अभी तक पुलिस घटना में शामिल अपराधियों को पकड़ने में विफल है। घटना 9 मार्च की है। अभी तक सीवान पुलिस लुटेरों को सही ढंग से पहचान करने में विफल है। या यह भी कहा जा सकता है कि लुटेरों की सही ढंग से पहचान नहीं की जा सकी है। बताया जा रहा है कि पुलिस के पास घटना संबंधित सीसीटीवी फुटेज भी उपलब्ध है। इधर एक तरफ पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लुटेरों को पकड़ने के लिए पुलिस 24 घंटे घटना का पर्दाफाश करने में लगी है।

पुलिस दिन-रात मेहनत कर रही है। परन्तु सीसीटीबी फुटेज में लुटेरों का चेहरा सही नहीं आने से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। विदित हो कि 9 मार्च को बाइक पर सवार तीन की संख्या में बदमाशों ने सीएमएस कर्मचारी शशिभूषण दुबे व निरंजन कुमार ने शहर के गोशाला रोड स्थित वी-टू बाजार व बाजार इंडिया मॉल से रुपयों की कलेक्शन की थी। कलेक्शन किए रुपयों को दोनों राजेंद्र पथ स्थित एचडीएफसी बैंक में जमा करने के लिए जा रहे थे। इस बीच फतेहपुर बाइपास रोड पर बाइक पर सवार तीन बदमाशों ने उन्हें रोक लिया और हथियार के बल पर उनसे रुपयों से भरा बैग लूट लिया.