सीवान को-ऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन रामायण चौधरी पर विद्यालय प्रभारी के साथ मारपीट करने का मामला दर्ज

0

को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष रामायण चौधरी पर यह आरोप लगा है कि उन्होंने विद्यालय के प्रधानाध्यापक से मारपीट की है. और जान से मारने की धमकी दी है.

सीवान :के मुफस्सिल थाने में को-ऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन रामायण चौधरी पर एक शिक्षक के साथ थप्पड़ जड़ने का मामला दर्ज कराया गया है. दरअसल मामला मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बरहन गोपाल पंचायत के नया प्राथमिक विद्यालय गोपालपुर का है. को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष रामायण चौधरी पर यह आरोप लगा है कि उन्होंने विद्यालय के प्रधानाध्यापक से मारपीट की है. और जान से मारने की धमकी दी है।

रामायण चौधरी के खिलाफ दर्ज कराई गई प्राथमिकी में प्राथमिक विद्यालय गोपालपुर के प्रधानाध्यापक अमित कुमार तिवारी ने यह लिखा है। की बरहन निवासी रामाश्रय चौधरी के पुत्र सीवान को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष रामायण चौधरी तथा उनके 5 सहयोगियों ने विद्यालय पहुंचकर उनके साथ गाली-गलौज की और उनके साथ मारपीट किया.और जान से मारने की धमकी दी है।

इतना ही नहीं विद्यालय के प्रभारी अमित कुमार तिवारी ने यह भी कहां है कि विद्यालय की शिक्षिका साक्षी श्रीया रामायण चौधरी की रिश्तेदार है. कहा कि आए दिन शिक्षिका श्रीया विद्यालय में नियमित रूप से योगदान नहीं देती है. और एक-एक सप्ताह तक अनुपस्थित रहती है. दर्ज प्राथमिकी में यह भी कहा गया है कि अनुपस्थित शिक्षिका की हाजिरी नियमित रूप से बनाने के लिए रामायण चौधरी लगातार दबाव बना रहे थे. विद्यालय के प्रभारी ने कहा कि जब मैंने गलत तरीके से हाजिरी बनाने से मना कर दिया तो उन्होंने अपने 5 सहयोगी के साथ विद्यालय पहुंचकर मारपीट की और जान से मारने की धमकी दी है. घटना के संदर्भ में मुफस्सिल थाना अध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

क्या कहते हैं को-ऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन रामायण चौधरी

रामायण चौधरी ने अपने बयान में कहा कि उनके ऊपर लगाए गए सारे आरोप निराधार है. उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर एफआइआर दर्ज कराई गई है इसकी जानकारी मिली है. उन्होंने कहा कि विद्यालय में मेरा कोई रिश्तेदार नहीं है. मेरे ऊपर गलत आरोप लगाया गया है। रामायण चौधरी ने कहा शिकायतकर्ता प्रधानाध्यापक अमित कुमार मेरे ही द्वारा बहाल कराया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here