मधुमेह तथा दमा की बीमारी पर सेमिनार व स्वास्थ्य जांच शिविर हुई आयोजित

0

रिपोर्ट: चंद्र प्रकाश राज/वीरेंद्र यादव

200 मरीजों का हुआ नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण

एकमा: मांझी मधुमेह और उच्च रक्तचाप मानव जाति का महान शत्रु है, चिकित्सीय भाषा में इसे साइलेंट किलर के नाम से जाना जाता है. बहुत पहले वैज्ञानिकों ने आम जनता को आगाह करते हुए कहा था कि भारत मधुमेह और दमा की राजधानी होने जा रहा है. लेकिन समय रहते सरकार और आम जनता ने इसे तवज्जो नहीं दी थी. आज हम देख रहे हैं कि मधुमेह और दमा पूरी मानव जाति को त्रस्त कर रहा है।

इसकी जानकारी, सावधानी और उचित आहार- विहार और चिकित्सीय परामर्श से हम इस पर काबू पा सकते हैं। यह बात स्वयंसेवी संस्था जानकी एजुकेशनल एण्ड सोशल ट्रस्ट हंसराजपुर, एकमा के अध्यक्ष डॉ. सत्यदेव प्रसाद यादव ने मांझी प्रखण्ड के गोबरही पंचायत के साधपुर गांव में सामुदायिक भवन (ब्रह्म स्थान) परिसर में आयोजित सेमिनार व नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर को संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि आजकल के लोग अपनी भागम-भाग की जिंदगी में इतने अस्त-व्यस्त हैं कि अपने स्वास्थ्य परीक्षण के लिए समय नहीं दे पा रहे हैं. डॉ. यादव ने बताया कि हरी, वरी और करी, ये तीनों मधुमेह और दमा की मुख्य वजह है. अर्ली टु राइज एण्ड अर्ली टु गो टु वेड, मेक्स ए मैन हेल्दी, वेल्दी एण्ड वाईज. उन्होंने ने कहा कि रात में जल्द सोना और सुबह जल्दी जगना मनुष्य को स्वस्थ्य, धनवान और बुद्धिमान बनाता है. इसी लोकोक्ति पर लोगों को अमल करने की आज के वक्त में जरूरत है.डॉ यादव ने कहा कि तनाव, चिंता, अंधाधूंध भाग दौड़ और चटपट्टी मसालेदार भोजन, फास्ट फूड, मांस मदिरा एवं तैलीय भोजन का परित्याग कर लोगों को मधुमेह और दमा जैसी प्राणघातक बीमारी से बचाव करना चाहिए. मार्निंग वॉक और व्यायाम भी स्वस्थ्य रहने के कारगर उपाय हैं।

इस अवसर पर मांझी प्रखण्ड के गोबरही पंचायत के साधपुर गांव के सामुदायिक भवन (ब्रह्म स्थान) परिसर में नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन कर मधुमेह और दमा के मरीजों का नि:शुल्क मधुमेह और दमा की जांच कर मरीजों के बीच नि:शुल्क दवाएं भी वितरित की गई. ग्रामीण क्षेत्र में जनहित में आयोजित इस स्वास्थ्य जांच शिविर में हेमोग्लोबीन, यूरिक एसिड एवं अन्य मौसमी बीमारियों के लगभग दो सौ मरीजों का नि:शुल्क जांच कर नि:शुल्क दवा भी वितरण किया गया. इस शिविर में डॉ. एसडीपी यादव, डॉ. पी. कुमार. डॉ. आर. कुमार, डॉ. आर के यादव, डॉ केडी यादव, प्रितम सोनी ,सुजीत कुमार, मनीश कुमार, अनुज कुमार, रंजीत कुमार सिंह, रामईश्वर सिंह, कुमार ऋषिकेश, संदीप कुमार, कृष्णा शर्मा, कन्हैया सिंह, प्रमोद कुमार मिश्रा आदि लोगों का सराहनीय एवं अनुकरणीय कार्य रहा। अगला नि:शुल्क जांच शिविर 10 दिसंबर को एकमा में आयोजित किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here