विद्यालय के शिक्षक कीचड़ होने की वजह से चापाकल का नहीं करने देते थे उपयोग,बच्चे को अपनी जान गंवानी पड़ी

0

बेगूसराय। में एक अजिबो-गरीब मामला प्रकाश में आया है जहां विद्यालय के बच्चों को स्कूल में अवस्थित चापाकल से पानी न पीने देने की वजह से एक बच्चे को अपनी जान गवानी पड़ी। मृतक छात्र के अभिभावकों ने शिक्षक पर आरोप लगाया है कि मध्यान भोजन के बाद बच्चे को स्कूल में अवस्थित चापाकल से पानी पीने नहीं दिया गया। जब विद्यालय में बच्चे को पानी पीने से रोका गया तो बच्चे पानी पीने के लिए विद्यालय से बाहर गेट की तरफ निकला जहां एक अज्ञात वाहन की टक्कर से बच्चे की मौत हो गई। पूरा मामला बेगूसराय जिले के गढ़पुरा थाना क्षेत्र के रजौर की है. अगर बच्चे की मौत के बाद हो हंगामा खड़ा हो गया। मृतक छात्र की पहचान रजौर गांव निवासी मोहम्मद मकबूल का पुत्र मोहम्मद मन्ना के रूप में हुई है.

कीचड़ होने की वजह से चापाकल का नहीं करने देते थे उपयोग।

मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया है कि विद्यालय के शिक्षकों के द्वारा इसलिए बच्चों को पानी पीने से रोक दिया जाता था क्योंकि विद्यालय में अवस्थित चापाकल के नजदीक पानी बहने से कीचड़ ही कीचड़ हो जायेगा। इधर घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्र की शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है वहीं पुलिस पूरे मामले की तहकीकात कर रही है.डीएसपी कुंदन कुमार सिंह ने बताया कि मृतक के परिजनों के द्वारा शिक्षकों पर आरोप लगाया गया है अगर इस तरह के आरोप सिद्ध पाए जाते हैं तो पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.