महाराजगंज में शिक्षकों के रवैया से अभिभावकों में नाराजगी,हाजरी बना हो जाते है गायब?..

0

सीवान। महाराजगंज अनुमंडल शहर मुख्यालय स्थित स्वामी कर्मदेव जमुना राम उच्च विद्यालय में शिक्षकों की अनियमितता का भंडाफोड़ उस समय सबके सामने हो गया.जब मंगलवार को विद्यालय में पढ़ रहे बच्चों के अभिभावन विद्यालय परिसर में पहुंचकर हंगामा तथा प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. अभिभावक जब विद्यालय पहुंचे तो देखा कि विद्यालय के उपस्थिति पंजी में शिक्षक उपस्थिति दर्ज कर विद्यालय से लापता थे. वहीं पूछताछ करने के दौरान प्रधानाचार्य के हवाले से सूचना मिली कि “यहां हाजिरी बनाकर कौन शिक्षक किधर चला जाता है हमको क्या पता?..” प्रधानाचार्य के मुख से यह बात सुनते बच्चों के अभिभावक काफी नाराज हो गए.

आक्रोशित अभिभावकों ने बताया कि यह एक संत शिरोमणि के अथक परिश्रम के बदौलत यह विद्यालय का निर्माण हुआ.कहा कि कई दशकों से इस क्षेत्र के बच्चे यहां शिक्षा ग्रहण करने आते है. विद्यालय से मिली अच्छी शिक्षा के बदौलत ही वे कई ऊंचे-ऊंचे पदों पर आसीन हुए है. महाराजगंज के एक संत शिरोमणि के सपनों का जो यह विद्यालय था और रहेगा उसमें अनियमितता कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। वहीं विद्यालय में कुछ शिक्षकों की मनमानी रवैया से नाराज अभिभावकों ने शिक्षकों की अनियमितता को लेकर वरीय पदाधिकारी से इसकी शिकायत करने की बात कही है.

छात्र नेता अमरेश सिंह के नेतृत्व में पहूंचे सैकड़ों अभिभावकों ने बताया कि विद्यालय में कोई भी शिक्षक और कर्मचारी सही समय से नही आते है,आज भी 22 शिक्षक में से मात्र 11 ही शिक्षक उपस्थित थे.जब प्रधानाचार्य से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि शेष 11 शिक्षक फोन किये है कि आज नहीं आएंगे। जब अभिभावकों द्वारा उन सभी का सीएल की मांग किया गया तो प्रधानाचार्य रामवचन यादव ने बताया की सीवान जिला शिक्षा पदाधिकारी का आदेश है फोन पर सीएल देने का। छात्र नेता ने कहा कि विद्यालय परिसर दलालों के अड्डा बन गया है जिसमें मुख्य रूप से स्थानीय विधायक को भी आरोपित किया गया है.कहा गया की इस विद्यालय का अध्यक्ष महाराजगंज के जदयू विधायक हेमनारायण साह है.यह भी कहा गया कि स्कूल प्रबंधक और विधायक द्वारा बिना आम सभा कियें हीफर्जी तरिके से नाइट गार्ड का बहाली कर दिया गया। विद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने आए कुछ बच्चों के अलावे इसके जानकारों ने बताया कि विद्यालय में प्रयोगशाला के लिए 5 लाख 80 हजार का प्रयोगिक सामान खरीदा गया था.लेकिन आज तक एक भी दिन प्रयोगिग का क्लास नही हुआ. कुछ बच्चों ने बताया कि विद्यालय में सफाईकर्मी होने के बावजूद भी विद्यालय के बच्चो को ही क्लास की साफ-सफाई करना पड़ रहा है.मौके पर शशिकांत तिवारी,सोनू सिंह,रत्नेश पांडे,बबलू पांडे,गोबिंद पांडे,संजय बाबा,दीपक तिवारी,विकास सिंह,अभिमन्यु सिंह सहित सैकड़ो अभिभावक ग्रामीण थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here