वित्तरहित अनुदानित शिक्षक-कर्मचारी संघर्ष मोर्चा ने 26 फरवरी से होने वाली इंटर परीक्षा के मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार करने की घोषणा की है

0

पटना। नियोजित शिक्षकों की हड़ताल के बीच अब नियमित शिक्षकों का भी 25 फरवरी से हड़ताल पर जाने की तैयारी है। हालांकि शिक्षकों की हड़ताल पर जाने से रोकने के लिए बिहार सरकार विफल हो चुकी है. सरकार के लाख कोशिश और शिक्षकों पर लगातार कार्रवाई के बावजूद भी शिक्षक अपनी मांग से तनिक भी पीछे होने तक का नाम नहीं ले रहे है.17 फरवरी से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए नियोजित शिक्षकों ने अब तक हड़ताल जारी रखा है. जिसकी वजह से विद्यालयों की शिक्षा में ताला लटक गया है. गौरतलब हो कि बिहार बोर्ड की ओर से इंटर परीक्षा की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्याकन 26 फरवरी से तथा मैट्रिक परीक्षा की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन 5 मार्च से होना है.जिस वजह से शिक्षक और सरकार दोनों आमने-सामने है.इधर 17 फरवरी से माध्यमिक शिक्षक संघ के हड़ताल पर चले जाने से 40 हजार शिक्षक हड़ताल में शामिल होकर मूल्यांकन कार्यो का बहिष्कार करेंगे। वित्तरहित अनुदानित शिक्षक-कर्मचारी संघर्ष मोर्चा ने 26 से होने वाली इंटर परीक्षा के मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार करने की घोषणा की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here