बिहार को विशेष राज्य के दर्जे बढ़ती महंगाई,बेरोजगारी और व्यापक पैमाने पर फैले भ्रष्टाचार के मुद्दे पर मानव श्रृंखला का निर्माण कराएं नीतीश कुमार-राजद

0

छपरा। सारण जिला राजद ने आगामी 19 जनवरी को जल-जीवन हरियाली के मुद्दे पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा मानव श्रृंखला के निर्माण पर सवाल खड़ा करते हुए आपत्ति जताई है.राजद के जिला प्रवक्ता हरेलाल यादव ने कहा कि कभी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का महत्वकांक्षी मुद्दा बिहार को विशेष राज्य के दर्जे को दिलाना हुआ करता था। इस मुद्दे को लेकर श्री कुमार ने दिल्ली के रामलीला मैदान में विशाल रैली भी की थी।तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह से मिलकर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग की थी.अब किन परिस्थितियों में इस मुद्दे को ठंडे बस्ते में डाल दिये हैं बिहार की जनता को बताना चाहिए। राजद प्रवक्ता ने जोर देकर कहा कि अगर मुख्यमंत्री का नियत साफ है तो वह विशेष राज्य के मुद्दे बढ़ती महंगाई बेरोजगारी लचर शिक्षा प्रणाली ध्वस्त कानून व्यवस्था रोगग्रस्त अस्पतालों की स्थिति सुधारने हेतु मानव श्रृंखला का निर्माण करवाएं 94.163 वर्ग किलोमीटर की बिहार की भूमि छोटी पड़ जाएगी।

शराबबंदी के नाम पर मानव श्रृंखला का निर्माण कराने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी क्या बिहार में शराबबन्दी कर पाये? राजद प्रवक्ता ने कहा कि हर घर नल का जल योजना में जो व्यापक पैमाने पर नीचे से ऊपर तक लूट खसोट मची है वो किसी से भी छुपी हुई नही है,वही हश्र होगा जल जीवन और हरियाली योजना का।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हमेशा दुविधा की भाषा बोलते हैं और सुविधा की राजनीति करते आये हैं जो सर्व विदित है राजद के सहयोग से जब सरकार चला रहे थे तो भाजपा के एजेंडे का समर्थन किये, चाहे राष्ट्रपति चुनाव हो जीएसटी का मुद्दा हो या नोट बंदी का अब भाजपा के सहयोग से सरकार चला रहे हैं तो राममंदिर धारा 370 या एनआरसी सीएए के मुद्दे का विरोध भी कर रहे हैं। जिला अध्यक्ष जिलानी मोबिन राजद के वरीय नेता राधेकृष्ण प्रसाद पूर्व प्राचार्य शंकर यादव राजद अतिपिछड़ा प्रकोष्ट के जिलाध्यक्ष रामपुकार महतो दयाशंकर यादव प्रतिमा कुशवाहा मोईनुद्दीन बबन लक्ष्मण राम व कन्हैया चौधरी आदि नेताओं ने 19 जनवरी के मानव श्रृंखला निर्माण पर आपत्ति दर्ज की.

इनपुट: चंद्रप्रकाश राज /वीरेंद्र यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here