मासिक का होना प्रकृतिक का वरदान है,अभिशाप नहीं-डॉक्टर शाही

0

छपरा। सोशल सर्विस आर्गेनाइजेशन दी-एक्सपर्ट ज़ोन की पहल उड़ान-अब खुल के जियो कार्यक्रम का आयोजन शहर के दिल्ली पब्लिक स्कूल सारण में किया गया। इस पहल का उद्देश्य हमेशा से यही रहा है कि बेटियां सबसे पहले अपने आप को शारीरिक और मानसिक रुप से स्वस्थ रखें। बता दें कि ये कार्यक्रम बच्चियों और महिलाओं के लिए पूर्ण रुप से बनाई गई हैं जिसके अंतर्गत उनके हार्मोनल बदलाव और उनसे जुड़ी समस्याओं के समाधान के प्रति जागरूक किया जाता रहा है। इस आयोजन में मुख्य अतिथि सह वक्ता के रुप में शहर की महिला चिकित्सक डाक्टर प्रियंका शाही थी। मासिक धर्म से जुड़ी समाज की गलत अवधारणा बन चुकी बातों को सही तरिके से समझाया गया । इनके आलावे मासिक के समय अपने आप को साफ रखना और उसके उपाये को भी डाक्टर के द्वारा जानकारी दी गई। उन्होंने ये भी कहा कि आज भी 90% महिला अपने मासिक की बातें या फिर उनसे जुड़ी समस्याओं पर घर में भी खुल कर बातें नहीं करती। डाक्टर ने कहा की महिलाओं को मासिक आना ये सृष्टि का वरदान है,अभिशाप नहीं और इस बात को हर लोगों को समझना होगा।हालांकि इस तरह का आयोजन पहली बार इस विधालय में किया गया था जिससे बच्चियाँ काफ़ी प्रभावित हुई और खुलकर अपनी समस्याओं को डाक्टर से पूछा भी। विधालय के निदेशक ने इस आयोजन के लिए टीम एक्सपर्ट ज़ोन को धन्यवाद देते हुए कहा कि इस तरह की जागरकता बहुत मायने रखती है। कार्यक्रम को सफल बनाने में मुख्य रुप से संस्था के संस्थापक रंजन श्रीवास्तव, संकेत रवि, विशाल कुमार, राजेश मिश्रा और दिवाकर मिश्रा उपस्थित रहे.

इनपुट: सीनियर जर्नलिस्ट चंद्रप्रकाश राज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here