ग्रीन जोन से लौटे प्रवासियों मजदूरों को होम क्वारेंटिन के लिए घर जाने की इजाजत

0

ग्रीन जोन से लौटे प्रवासी मजदूरों को होम क्वारेंटिन के लिए स्वास्थ्य प्रशिक्षण के बाद उन्हें शनिवार को घर भेज दिया गया। किंतु वे सभी लोग अगले 7 दिनों तक होम क्वारेंटिन में रहेंगे।



सीवान.दरौंदा प्रखंड मुख्यालय के विभिन्न पंचायतों में ग्रीन जोन से लौटे प्रवासी मजदूरों को होम क्वारेंटिन के लिए स्वास्थ्य प्रशिक्षण के बाद उन्हें शनिवार को घर भेज दिया गया। किंतु वे सभी लोग अगले 7 दिनों तक होम क्वारेंटिन में रहेंगे। विदित हो की सरकार के दिशा निर्देश के आलोक में सभी लोगों को प्रखंड अंतर्गत पंचायत के विभिन्न क्वारेंटिन केंद्रों पर रखा गया था,इधर प्रखंड के मध्य विद्यालय बगौरा क्वारेंटिन सेंटर से 28 तथा उच्च विद्यालय बगौरा क्वारेंटिन सेंटर से 3,अपग्रेड उच्च विद्यालय दरौंदा से 27, मध्य विद्यालय के.टी भरौली से 21,मध्य विद्यालय धनौती से 19, उच्च विद्यालय धनौती से 12 लोगों के अलावा प्रखंड मुख्यालय से तकरीबन 400 प्रवासी मजदूरों को होम क्वारेंटिन के लिए शपथ पत्र लेकर उनके घर जाने की इजाजत मिली है,बताते चले कि होम क्वारेंटिन में रहने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए घर-घर टीम भेजकर निगरानी एवं स्वास्थ्य प्रशिक्षण हेतु स्वास्थ्य विभाग द्वारा अलग से आदेश निर्गत किया गया है,क्वारेंटिन केंद्रों से होम क्वारेंटिन के लिए भेजें जाने वाले प्रवासी मजदूरों से पंजीकरण के दौरान ही उनका बैंक खाता संख्या,आधार संख्या आदि की जानकारी निश्चित रूप से प्राप्त कर ली गई है ताकि प्रवासी मजदूरों को निष्क्रमण सहायता की राशि पीएफएमई के माध्यम से सीधे उनके बैंक खाते में अंतरित किया जा सकें।


तीन सदस्ययी टीम ने होम क्वारेंटिन के लिए लोगों को भेजा घर


दरौंदा. प्रखंड के विभिन्न क्वारेंटिन केंद्रों पर ग्रीन जोन से लौटे प्रवासी मजदूरों को होम क्वारेंटिन के लिए 3 सदस्ययी टीम बनाई गई है। इन सभी सदस्य टीम में कृषि पदाधिकारी सतीश कुमार,सीओ पारसनाथ राय तथा प्रखंड विकास पदाधिकारी रीता कुमारी शामिल है, सभी तीन अलग-अलग प्रखंड के क्वारेंटिन केंद्रों पर प्रवासी मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत उन्हें होम क्वारेंटिन के लिए घर भेजा जा रहा है.


रेड जोन से लौटे प्रवासियों पर प्रशासन की विशेष नजर


दरौंदा शहर के प्रखंड मुख्यालयों में रेड जोन से लौटे प्रवासी मजदूरों पर प्रशासन की पैनी नजर है,स्वास्थ्य विभाग समय-समय पर उनकी स्वास्थ्य परीक्षण कर रही है साथ ही उन्हें सोशल डिस्टेंस के साथ रखा जा रहा है,बताते चलें कि ए श्रेणी के जिलों से आए प्रवासी एवं अन्य व्यक्तियों को प्रखंड क्वारेंटिन में रखा जा रहा है,इनमें महाराष्ट्र के मुंबई,कोलकाता, सूरत,अहमदाबाद,नई दिल्ली क्षेत्र एनसीआर,गुरुग्राम,नोएडा,फरीदाबाद,पुणे, बैंगलोर,गाजियाबाद,बढ़ोदरा,गोधरा,थाणे,इशेर, पानीपत,मोहाली,बिलासपुर समेत अन्य जिला शामिल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here