मनरेगा मजदूरों ने बताया कि मुखिया या पंचायत सेवक के द्वारा उन्हें माक्स या सैनिटाइजर उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है!

0

मनरेगा में कार्य कर रहे मजदूरों ने बताया कि हमलोग चार दिनों से यहां कार्य कर रहे लेकिन हमलोगों को मुखिया या पंचायत सेवक के द्वारा मास्क या सैनिटाइजर उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है।


महाराजगंज.कोरोना महामारी के चलते पूरे देश मे जहां लॉकडाउन व सोशल डिस्टेंस का नियम लागू किया गया है। वहीं सरकार द्वारा नियमों और शर्तों के साथ मनरेगा के तहत मजदूरों को रोजगार उपलब्ध करने का आदेश दिया है। सरकारी कार्यो को करने के लिये मजदूरों को मास्क व सोशल डिस्टेंस का अनुपालन बखूबी निभाने का निर्देश दिया गया है। लेकिन प्रखंड में कोरोना संक्रमण के खतरे से बचाव के लिए आवश्यक तैयारी किए बगैर ही मनरेगा का काम चालू कर दिया गया है। प्रखंड के जिगरहवा पंचायत में मनरेगा का कार्य कर रहे मजदूरों में सोशल डिस्टेंस नहीं दिख रहा है और न ही मास्क लगाएं हुए है। जब इस संबंध में मजदूरों से पूछा गया तो उनलोगों ने बताया कि हमलोग चार दिनों से यहां कार्य कर रहे लेकिन हमलोगों को मुखिया या पंचायत सेवक के द्वारा मास्क या सैनिटाइजर उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे से निबटने के लिए सरकार लॉकडाउन लागू किया है। जबकि सरकार द्वारा मनरेगा कार्यो में छूट मिलनें के बाद ग्राम पंचायतों में काम जोर पकड़ने लगा है,तो वहीं दूसरी ओर घोर लापरवाही देखी जा रही है। मनरेगा के तहत कार्य करने वाले मजदूरों का आरोप है कि हम लोगों के लिए नया जॉब कार्ड नहीं बना है। जबकि पुराने जॉब कार्ड पर ही कार्य कराए जा रहे है। वैश्विक महामारी में भी हम लोगों को मास्क और सैनिटाइजर भी उपलब्ध नहीं कराया गया। इस संबंध में प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी असलम अंसारी ने बताया कि प्रखंड में जहां भी मनरेगा के तहत कार्य कराए जा रहे है,उन सभी जगहों पर कार्य करने वाले मजदूरों को हैंड सैनिटाइजर और मास्क उपलब्ध करा दिए गए है। फिर भी ऐसा सुनने में आ रहा है कि वे लोग मास्क का उपयोग नहीं कर रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here