घर पर ही परीक्षा देंगे कुमार आरएनपी क्लासेज के छात्र

0

छपरा। कोरोना को ले स्कूल प्रशासन की एक नई पहल सरकार ने बच्चों की सुरक्षा के खातिर स्कूल को इस महीने के आखिरी तक बंद करने का फैसला लिया है।जिसके कारण अभितक स्कूलों में वार्षिक परीक्षा नहीं हो सकी है। क्लास 1 से 8 वीं तक के छात्रों को अगली कक्षा में अपग्रेड करने बात चल रही है। बावजूद इसके छात्रों के उनके साल भर के प्रदर्शन के आधार पर अंक देने के बजाय कुमार आर एन पी क्लासेज ने अपने स्कूल में पढ़ रहे छात्रों को उनके घर पर ही माता-पिता की देख-रेख में परीक्षा लेने का फैसला किया है । यह फैसला इसलिए किया गया है क्योंकि छात्रों ने वार्षिक परीक्षा के लिए कड़ी मेहनत की है। परीक्षा के लिए छात्रों के घर प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिका उनके अभिभावकों को स्कूल के शिक्षकों के द्वारा दी जा रही है,और उनसे ये कहा जा रहा है कि आप अपनी देख रेख में बच्चो की परीक्षा ले। स्कूल के निदेशक पंकज कुमार ने कहा कि

इन सब परेशानियों के बीच हमें भी अपने काम के प्रति ईमानदारी बरतने और सत्यनिष्ठा की परीक्षा से गुजरना होगा। हमारा यह प्रयास हमारे बच्चों के भविष्य को सफल बनाने में मदद करेगा।बच्चो के माता-पिता के रूप में उनकी ईमानदारी, और सच्चाई की परीक्षा होगी जिसमें वे कभी असफल नहीं हो सकते हैं,ये हमारा विश्वास है। बच्चो के अभिभावक,राज किशोर सिंह,सुजय रंजन,गोपाल कुमार यादव,विजय साह,राजेश जायसवाल एवं अन्य लोगो ने स्कूल के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि,हमने कभी भी ये नहीं सोचा था कि हमारे घर पर हमलोगो के ही देखरेख में हमें अपने बच्चो की परीक्षा लेनी पड़ेगी ,हम बहुत खुश है ,हमारे बच्चे भी पूरी ईमानदारी से घर पर परीक्षा देने को तैयार है और उत्साहित है ,हम भी पूरी ईमानदारी और निष्ठा के साथ उनकी परीक्षा कड़ाई से लेंगे,किसी तरह की कोई छूट उनको नहीं दी जाएगी.

इनपुट:सीनियर जर्नलिस्ट चंद्रप्रकाश राज