एकमा में धारदार हथियार से स्वर्ण व्यवसायी की हत्या,हत्या के विरोध में आक्रोशित लोगों ने घंटों किया सीवान-छपरा एनएच 531 को जाम

0

एकमा। थाना क्षेत्र में मंगलवार की सुबह एक स्वर्ण व्यवसायी का शव बरामद होने से सनसनी फैल गई। भुईली व हरपुर गांव के बीच स्थित गंडक नहर के बांध के समीप झाड़ियों के बीच व्यवसायी की हत्या कर फेंका गया शव बरामद हुआ। जानकारी के बाद घटना स्थल पर ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस बीच सूचना पाकर एकमा थाने की पुलिस भी मौके पर पहुंच गई. इसके बाद शव की शिनाख्त परसागढ़ निवासी 30 वर्षीय राधेश्याम सोनी के रूप में हुई. नाराज लोगों ने एकमा थाने के समक्ष युवक का शव रखकर प्रदर्शन किया। आक्रोशित व्यवसायियों व लोगों ने सीवान-छपरा एनएच 531 को जाम करके हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। इब दौरान मुख्य सड़क पर टायर जलाकर नाराज व्यवसायियों ने आक्रोश जताते हुए हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की। जिससे मुख्य सड़क पर वाहनों की लगभग एक घंटे से अधिक अवधि तक कतार लगी रही।

सूचना पाकर घटना स्थल से एकमा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु छपरा भेज दिया है।

सूचना पाकर थानाध्यक्ष राजेश चौधरी, बीडीओ डा. कुन्दन, सीओ सुशील मिश्र,एसडीपीओ अजय कुमार सिंह के बाद एसपी हरकिशोर राय ने भी पहुंच कर लोगों को आश्वासन देकर सड़क यातायात सामान्य कराया। इस दौरान पीड़ित पक्ष का बयान भी लिया। पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का मुआयना कर एकमा पुलिस को आवश्यक निर्देश भी दिया।

बताया गया है कि एकमा बाजार से स्थित अपने आभूषण की दुकान को सोमवार की शाम बंद करके परसागढ़ बाजार स्थित बाइक पर सवारहोकर अपने घर लौटने के दौरान स्वर्ण व्यवसायी अचानक लापता हो गया। जिससे वह सोमवार की रात अपने घर नहीं पहुंचा। आरोप है कि रात को अज्ञात लोगों ने नकदी लूटने के बाद उसकी चाकू से गोद कर हत्या कर शव को गंडक नहर किनारे फेंक दिया। मृतक परिजनों ने एकमा स्थित आभूषण की दुकान में भी अज्ञात लोगों द्वारा चोरी किए जाने का आरोप लगाया है। वहीं शव के समीप ही व्यवसायी की बाइक व मोबाइल भी बरामद हुई है। एकमा थाना क्षेत्र के परसागढ़ बाजार के व्यवसायी युवक की चाकू मार कर की गई हत्या के मामले में एकमा थाने में मृतक युवक के भाई श्री भगवान साह की ओर से दिए गए प्रार्थना पत्र के आधार पर अज्ञात लोगों के विरुद्ध संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर लिया है.

हालांकि कि पुलिस को अभी हत्या के कारणों की वास्तविक जानकारी अभी नहीं हो पायी है। इस बीच धड़-पकड़ की कार्रवाई में पुलिस ने माने गांव निवासी एक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। वहीं व्यवसायी युवक की हत्या की वारदात को लेकर क्षेत्र में कई तरह की संदिग्ध कयास लोगों द्वारा लगाए जाने के साथ चर्चाएं हो रही हैं। लोगों का तर्क है कि जब उसे एकमा-परसागढ़ सड़क से होकर शाम को घर वापस हो रहा था, तो आखिर नहर किनारे उसका शव, बाइक व मोबाइल आदि कैसे पहुंच गया ? पुलिस भी कई पहलुओं पर गहन जांच-पड़ताल कर रही है। पुलिस का दावा है कि शीघ्र ही वारदात का राजफाश हो जाएगा।

चार भाईयों में सबसे छोटा था राधेश्याम :

मृतक व्यवसायी मौजूदा हालत में चार भाईयों में सबसे छोटा था। इसकी शादी वर्ष 2017 में सिवान जिले के महाराजगंज में हुई थी। लेकिन बताया गया है कि उसका एक साल में ही पत्नी से तलाक हो गया था। एक भाई बलिराम साह फेरी लगाकर बर्तन बेचने का काम करता है। दूसरा भाई शंकर साह महाराजगंज बाजार में आभूषण का कारोबार करता है। वहीं तिसरा भाई श्री भगवान साह दाउदपुर थाना क्षेत्र के कोहड़ा बाजार में आभूषण का कारोबार करता है। चौथा और सबसे छोटा भाई राधेश्याम सोनी एकमा बाजार में आभूषण की दुकान किया था। जिस राधेश्याम सोनी की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई, वह अपनी माता व भाई बलिराम साह के साथ परसागढ़ में रह रहा था.

इनपुट:चंद्रप्रकाश राज/कमल/मनोरंजन/वीरेंद्र/वीरेश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here