सत्रहवें दिन भी शिक्षको का अनिश्चितकालीन धरना जारी

0

छपरा। सारण जिला मुख्यालय से लेकर के प्रखंड मुख्यालयों तक अपने सात सूत्रीय मांगों के समर्थन मे हड़ताली शिक्षको का प्रदर्शन अनावरत जारी है।लगभग सभी धरना स्थलों पर शिक्षको ने अपने भाषण मे कहा की हम सभी शिक्षक अपने मांगो को लेकर हड़ताल किये है। हमे खेद है कि आज 17 दिनो से बच्चो का पठन-पाठन बाधित है। लेकिन सरकार की निंद नही खुल रही है। सरकार बच्चो की शिक्षा व शिक्षक दोनो के लिए हड़ताल खत्म न कराकर बाधक बनी है.

दरियापुर व दिघवारा का दौडा प्रदेश कमिटी के तरफ से राकेश कुमार सिह और जिला से सुभाष कुमार सिह ने अन्य शिक्षक साथियों के साथ कर शिक्षकों का हौसला बढाया। इस अवसर पर शिक्षक शिक्षकों ने दोनो स्थलों पर गीत के माध्यम से अपनी उद्गार व्यक्त की। अपने मांगो में नारेबाजी करते हुए सरकार की हड़ताल को लंबा खिंचने के लिए पूरजोड विरोध किया। बुधवार को बीआरसी दिघवारा मे धरना स्थल को संबोधित करते हुए शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के प्रदेश कमिटि सदस्य राकेश कुमार सिह ने कहा की सरकार हमारी न्योचित मांग समान कार्य समान वेतन सहित सभी सात सूत्रीय मांगों को मान ले हम सरकार के सदैव सहयोगी बने रहेंगे। हमे किसी राजनीतिक पार्टी से मतलब नही है जो हमारा हित करेगा।

हम उसी के साॅथ रहेंगे।वही शिक्षक नेता रामानंद सिह ने कहा की हम सभी शिक्षक अपने हक के लिए दरी पर तबतक जमे रहेंगे जबतक सरकार हमारी माॅग मान नही लेती।दिघवारा समन्वय समिति के उपाध्यक्ष अनील कुमार यादव ने कहा कि हमलोग वेतन बढवाने के लिए बल्की समान काम समान वेतन सहित राज्य कर्मी का दर्जा पाने के लिए बैठे है और तबतक बैठे रहेंगे जबतक हमारी माॅगे नही मानती।वही शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के जिला कार्यकारणी सदस्य सुभाष कुमार सिह ने कहा कि सरकार हमे दरी पर बैठे देख कर भी तरस नही खा रही और हमारे माॅगो को मानने मे आना कानी कर रही है ठिक है हम शिक्षको का अटल निर्णय है की धरना स्थल से तभी हटेंगे जबतक हमारी माॅगे पूरी नही हो जाए।हम लोग धरना स्थल पर ही निरसता पूर्वक होली मनायेंगे।अंजनी कुमार सिंह,वीर अभिन्यु,अभिषेक कुमार रौशन ,प्रभा कुमारी,शशिकान्त प्रसाद,इंदु कुमारी,अनमोल कुमारी,मुन्नी कुमारी, आरती कुमारी,नंदनी कुमारी,नसीम अहमद,कादीर हसन,आदि सामिल थे।

इधर बीआरसी दरियापुर मे चल रहे धरना स्थल पर बोलते हुए शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के सदस्य जाहिर हुस्सैन ने कहा की सरकार अपने कुर्सी के मद को त्याग शिक्षको के परिस्थितियों पर गंभीरता पूर्वक विचार करना होगा।हमारे शिक्षक विद्यालय छोड पिछले सत्रह दिनो से दरी पर बैठकर सरकार से न्योचित माॅग की गुहार लगा रहे है लेकिन सरकार की निंद नही खुल रही ।वह कुर्सी पर बैठे है और शिक्षक दरी पर समय बिता रहे है,शिक्षक व सरकार के आमने सामने के खिंच तान मे बच्चो का अहित हो रहा इसकी चिन्ता सरकार को नही ।वही कुमार शैलेश ने कहा की सरकार कह रही है हम नही झुकेंगे लेकिन उनको झुकना ही पडेगा।हमारी माॅगे जायज है आप दमनात्मक नीति का त्यागकर शिक्षक हित मे कार्य करे और आन्दोलन काल मे हुए सभीं कार्वाईयो को वापस ले।दरियापुर मे सभा को संबोधित करने वाले अन्य शिक्षको मे सामिल थे दिनेश कुमार मूनन,प्रमोद कुमार पप्पु,अशोक राय,नंद कुमार,कविता कुमारी,किरण कुमारी,दशरथ राय,पूनम पाण्डेय, राजू कुमार ,रूपा कुमारी,रागनी सिंह, रेखा कुमारी,त्रिभुवन दास,अनील कुमार आदि रहे.