सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में घायल यु़वक के परिजनों का हंगामा

0

अस्पताल में बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध नहीं रहने पर हंगामा।

एकमा: सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में वाहन दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल युवक को उपचार के लिए लेकर आये विष्णुपुरा कला गांव के लोगों ने समुचित चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध नहीं होने पर अस्पताल में जमकर हंगामा कर आपातकालीन सेवा में प्रतिनियुक्त चिकित्सक के साथ दुर्व्यवहार किया.बताया जाता है कि एकमा प्रखंड के विष्णुपुरा कला गांव से नरहनी गांव में बरातियों को तेज गति से लेकर जा रही चार पहिया वाहन अचानक अनियंत्रित होकर खुटकढ़वाँ गांव के समीप सड़क के किनारे गडढ़े में पलट गई.जिसमें सवार विष्णुपुरा कला गांव के सुरेश सिंह के इकलौते पुत्र बिट्टू सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए.गांव के लोगों ने तत्काल चार पहिये वाहन से गंभीर रूप से घायल युवक बिट्टू सिंह को आवश्यक उपचार लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लायें. अस्पताल में कम्पाउंडर, ड्रेसर, एम्बुलेंस अन्य स्वास्थ्यकर्मियों समेत सुरक्षा गार्ड अपने कर्तव्य से गायब थे. चिकित्सक डॉ शाहिद अली ने निजी अस्पताल के चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मियों को बुलाकर आवश्यक उपचार किया।

उपचार के बाद गंभीर रूप से घायल युवक को बेहतर चिकित्सा के लिए सदर अस्पताल ले जाने का आग्रह किया.अस्पताल से तत्काल एम्बुलेंस उपलब्ध नहीं होने पर घायल साथ आये लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया.इस दौरान हंगामा कर रहे लोगों ने चिकित्सक के साथ दुर्व्यवहार किया. हंगामा कर रहे लोगों ने अस्पताल में तोड़फोड़ और आगजनी का प्रयास किया. लेकिन तत्काल कुछ समाजसेवियों के हस्तक्षेप से हंगामा कर रहे लोग शांत हुए. हंगामा को देखकर पड़ोसी गांव के लोगों भी जुट गए. इसके बाद चिकित्सक और महिला स्वास्थ्यकर्मियों ने राहत की सांस ली.बाद में निजी एम्बुलेंस से घायल को सदर अस्पताल भेज दिया गया. इस घटना से आतंकित आयुष चिकित्सकों ने आपातकालीन सेवाएं नहीं करने का निर्णय लिया और प्रभारी चिकित्सक को ज्ञापन सौपा. इस संबंध में सिविल सर्जन मद्येश्वर झा ने बताया की आपातकालीन सेवा को सुचारू ढ़ंग से संचालित रखने की समुचित व्यवस्था की जायेगी.Input):चंद्रप्रकाश राज/वीरेंद्र यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here