जगराते में गायक रमेश सजल की देवी गीतों व भजनों की प्रस्तुतियों पर रात भर झूमते रहे श्रद्धालु

0

शिव-पार्वती विवाह की आकर्षक झांकी रही आकर्षण का केंद्र

एकमा: (सारण) : प्रखंड के देकुली गांव स्थित नवनिर्मित काली मंदिर परिसर में गांववासियों की ओर से जारी 24 घंटे के सार्वजनिक अखंड अष्टयाम के समापन पर विशाल भंडारा आयोजित हुआ।
वहीं रविवार की शाम को देवी जागरण का कार्यक्रम मी आयोजित हुआ। जगराते में भोजपुरी लोकगीत गायक रमेश सजल की ओर से देवी गीतों व भजनों की प्रस्तुतियों पर श्रद्धालुगण रात भर झूमते रहे।
गायक रमेश सजल की भोजपुरी लोक गीतों व फ़िल्मी गीतों की धुनों पर देवी गीतों के अलावा ग्रामीण व बाल कलाकारों क्रमशः रिमझीम व सक्षम की शिव-पार्वती विवाह और कृष्ण-सुदामा मित्रता संबंधी मनमोहक व आकर्षक झाकियों की प्रस्तुति ने माता के भक्तों को झूमने पर मजबूर कर दिया।
शिव जी का विवाह गीत सुनते ही पूरा पांडाल तालियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा।

वहीं राधाकृष्ण व नंदी के साथ भगवान शंकर व माता पार्वती की मनमोहक झांकी ने दर्शको का मन मोह लिया। उधर कृष्ण जी का चूड़ी बेचना, शिव तांडव व काली जी का तांडव आकर्षण का केंद्र बना रहा। जिसे देखते ही पूरा पांडाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूँज उठा। इसके पूर्व आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ गणेश व सरस्वती वंदना के साथ हुआ।
कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि समाजसेवी कामेश्वर कुमार सिंह “मुन्ना” के अलावा विवेक सिंह, सिंकू सिंह, उपेंद्र सिंह, शम्भू सिंह, रणजित सिंह, ओमप्रकाश, बब्बन सिंह, मुन्ना सिंह, बागेश्वर सिंह, शैलेंद्र सिंह, नान्कू सिंह, सुनील सिंह, अनीश सिंह, रोहित सिंह, रोशन सिंह, गोलू सिंह, धर्मेंद्र सिंह, मुकुल सिंह, अशोक पंडित, योगेंद्र पंडित, बृजेश यादव आदि देकुली ग्रामवासी सहित दूरदराज के गांवों से आये काफी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे.INPUT:चंद्र प्रकाश राज/के.के सिंह सेंगर(छपरा सारण)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here