बिहार में डीएम और एसपी ने छात्राओं को सौंप दिया 1 दिन का कमान: फिर आगे क्या हुआ जाने…..

0

सीतामढ़ी। जिले में डीएम और एसपी का कमान उस समय स्कूलों में पढ़ने वाली छात्राओं को सौंप दिया गया। जब जिलाधिकारी अभिलाषा कुमारी शर्मा आने वाले राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले गरीब बच्चियों की मनोबल बढ़ाने के लिए मंगलवार को अपने कार्यालय में प्रेरित कर रही थी। सबसे हैरत की बात यह है कि पूरे दिन के लिए बच्चों को जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक की कमान सौंप देने के बाद जिले के भ्रष्ट अधिकारियों में हड़कंप मच गई। सभी को डर बनी थी कि कब क्या हो जाये। किस समय किसको अपनी कुर्सी गंवानी पड़े यह सभी के बीच सबब बना था। कहा तो सही ही गया है “वही होगा जो मंजूरे खुदा होगा”हुआ कुछ ऐसे ही जब एसपी बनी छात्रा को थानाध्यक्ष को रिश्वत लिए जाने की शिकायत मिली तो एक दिन कि एसपी साहिबा आग बगुले हो गई। जिसके बाद थानाध्यक्ष को फोन कर उन्हें सस्पेंड करने की भी धमकी दे दी.1 दिन के लिए डीएम और एसपी बनाई गई छात्राओं ने अधिकारियों को सही तरीके से काम करने की नसीहत दी, साथ ही कई मामलों में फरियादियों की शिकायत दूर करने के लिए कार्रवाई का निर्देश भी दिया। फरियादी ने जैसे ही इसकी जानकारी एसपी को दी. उसके बाद एसपी साहिबा न्याय की आवाज बनती दिखी।अपने कार्यालय कक्ष मे डीएम ने वहां मौजूद बच्चियों का हौसला बढ़ाते हुए उन्हें देश की सर्वोच्च सेवा में जाने के लिये भी प्रेरित किया।

◆ जिले के सभी पुलिसकर्मी थे हैरान परेशान।

थानाध्यक्षों की शिकायत सुनते ही जब एसपी कार्यालय से लेडी सिंघम के फोन की घंटी जिले के तमाम पुलिस स्टेशनों में बजने लगे तो पुलिसकर्मी हैरान-परेशान होते देखे गये। उन्हें यह समझ में नहीं आ रहा था कि कब जिले में लेडी सिंघम इस एसपी ने अचानक जिले में योगदान दे दिया.

◆ अब बात कर लेते है एक दिन की डीएम छात्रा की।

छात्रा को एक दिन की डीएम बनते देख फरियाद लगाने के लिए कई लोग उनके दरबार में पहुंच गये। जमीनी विवाद से पीड़ित कई फरियादी जमीन कब्जा करने के मामले में डीएम साहिबा से गुहार पर गुहार लगाए जा रहे थे। इसके अलावा अन्य फरियादी भी सरकारी योजना की लाभ नहीं मिलने की बात करते दिखे। बस.. 1 दिन के लिए जिलाधिकारी बनी छात्रा ने मामले को गंभीरता पूर्वक लेते हुए एसडीएम को मामले में एक्शन लेने का निर्देश दे दिया।

◆ एसपी बनी छात्रा प्रभा कुमारी ने कहा थानाध्यक्ष पर होगी कार्रवाई

एक दिन की एसपी बनी प्रभा कुमारी कहती है कि उनका हौसला आज बुलंद हो गया. उन्होंने थानाध्यक्ष को भी डांट पिलाई है. उनका कहना था कि उनके द्वारा रीगा थानाध्यक्ष को फोन किया गया. दरअसल, एक पीड़िता उनके पास शिकायत लेकर आई थी. उसने कहा था कि उसके पति ने दुसरी शादी रचा ली. लेकिन इस मामले में केस करने पर भी पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है. प्रभा ने बताया कि बिना तलाक के दूसरी शादी करना गलत है और कानून का उल्लंघन है, ऐसी परिस्थिति मे थानाध्यक्ष ने कार्रवाई नहीं की तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और उनके जगह अच्छे काम करने वाले को थानाध्यक्ष को नियुक्त किया जाएगा.

डीएम बनी प्रिया कुमारी ने कहा कड़ी मेहनत कर मैं भी बनूंगी डीएम

डीएम बनी प्रिया कुमारी कहती है कि आज वे जिस कुर्सी पर बैठी है, उसके बाद उनके अंदर जज्बा पैदा हो गया है कि कल वे इस कुर्सी पर जरुर बैठेगी. आने वाले समय में वो कड़ी मेहनत करेगी और डीएम ही बनेगी.