दुनिया पर विजय हासिल करना है तो भाई से प्रेम करना सिखों-शीघ्रता

0

महाराजगंज। अनुमंडल शहर मुख्यालय के रामेश्वरम धाम मंदिर परिसर में चल रहे भागवत कथा ज्ञान यज्ञ में सुप्रसिद्ध भागवत कथा वाचिका के रूप में महाराजगंज में पधारी सुश्री शीघ्रता त्रिपाठी के कथा श्रवण करने हजारों की संख्या में महिला और पुरुष एकत्रित हो रहे है.

जहां देर रात्रि तक भागवत की महिमा का बखान सुन रहे हैं। सोमवार रात्रि हुए भागवत कथा का गुणगान करते हुए सुश्री शीघ्रता त्रिपाठी ने कहा कि दुनिया पर अगर विजय हासिल करना है तो भाई से प्रेम करना सीखो।

सब कुछ करना मगर भाई से कभी दुश्मनी नहीं करना चाहिए। उदाहरण देते हुए श्री त्रिपाठी ने कहा कि रावण यदि विभीषण से बैर नहीं किया होता,बाली यदि सुग्रीव से बैर नहीं किया होता तो इन लोगों का खात्मा नहीं हुआ होता। भाई से प्रेम का ही नतीजा था कि राम ने लंका पर विजय हासिल की चुकी राम और लक्ष्मण दोनों में अगाध प्रेम था.श्रीकांत त्रिपाठी ने बताया कि श्रीमद् भागवत कथा भगवान कृष्ण का एक वाड्गमय स्वरूप है जो कि भक्तों की श्रद्धा एवं भक्ति के पूर्ण होता है। अतः अपनी समय अनुसार धन व्यय करके कथा का अमृत पान करना चाहिए। कई जन्मों का पुण्य का फल होता है भगवत कथा का श्रवण करना.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here