सीवान में दिनदहाड़े मुखिया की गोली मारकर हत्या

0

दरौंदा: थाना क्षेत्र के करसौत नहर पुल पर रविवार की दोपहर तकरीबत 1:30 बजे के करीब अपाची बाइक पर सवार दो की संख्या में अज्ञात अपराधियों ने मुखिया पर अंधाधुंध फायरिंग कर मौत के घाट उतार दिया.मृतक मुखिया की पहचान महाराजगंज थाना क्षेत्र के बलऊ पंचायत के मुखिया सुनील सिंह उर्फ दहारी सिंह के रूप में हुई है.घटना के संबंध में बताया जाता है कि मुखिया सुनील सिंह सीवान में अपने साथी प्रभु राय को छोड़कर अपने बुलेट से महाराजगंज के लिए लौट रहे थे.इसी दौरान करसौत नहर पुल पर अपाची बाइक पर सवार दो की संख्या में अज्ञात अपराधियों ने मुखिया की बाइक को ओवरटेक कर उनके ऊपर अंधाधुंध फायरिंग करना शुरू कर दिया.बताया जा रहा है कि गोली लगने के बावजुद भी अपराधियों व मुखिया के बीच थोड़ी देर के लिए झड़प भी हुई.फिर भी अपराधियों ने उनके ऊपर गोलीबारी जारी रखी। गोली लगने से मुखिया की मौत होने के बाद अपराधी मौके से भागने में सफल हो गए.बताया जा रहा है कि अपराधियों ने दोनों हाथों में दो-दो पिस्टल लेकर उनके ऊपर उस वक्त तक फायरिंग करते रहे जब तक उनकी मौत नहीं हो गई.इधर घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर सैकड़ों की तादाद में लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई.इसके बाद आक्रोशित लोगों ने सीवान पैगंबरपुर मुख्यपथ पर करसौत नहर पुल पर आगजनी कर सड़क को पूरी तरह से जाम कर कई घंटों तक आवागमन को बाधित कर दिया.मुखिया की हत्या से नाराज लोगों ने अपराधियों की त्वरित गिरफ्तारी करने की मांग पर अड़े रहे.


काफी मिलनसार प्रवृत्ति के थे मुखिया सुनील सिंह


घटना स्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि मुखिया सुनील सिंह काफी मिलनसार प्रवृत्ति के थे.उनकी मृत्यु होने की सूचना के बाद मुखिया संघ में काफी आक्रोश व्याप्त है.घटना की जानकारी मिलते ही जितने भी उनके साथी-संबंधी लोग थे यथा स्थिति की जानकारी लेने के लिए काफी व्याकुल दिखे।


अपने तीन भाइयों में दूसरे नंबर पर थे मुखिया सुनील सिंह


बताते चलें की मुखिया सुनील सिंह

अपने तीन भाइयों में दूसरे नंबर पर थे.बीडीसी मेंबर के बाद प्रथम बार मुखिया बने थे.सुनील सिंह मुखिया के एक पुत्र तथा दो पुत्री हैं.जिसमें बड़ी पुत्री सपना कुमारी की शादी 3 वर्ष पूर्व ही हो गई हैं.वही एक पुत्री 17 वर्षीय पुनीत कुमारी और पुत्र सुमित कुमार 15 वर्षीय हैं.जो हाल ही में मैट्रिक का परीक्षा दिया हैं. सुनील सिंह की मृत्यु हो जाने के बाद पूरे परिवार में कोहराम मचा हुआ है.पत्नी प्रतिमा देवी तथा माता सुधा देवी का रो-रोकर बुरा हाल है.


हत्या से नाराज आक्रोशित लोगों ने पुलिस को खदेड़ा


मुखिया सुनील सिंह की हत्या से आक्रोशित लोगों ने पुलिस की नाकामी बताते हुए जमकर प्रदर्शन की। इसके बाद घटना स्थल से काफी दूरी तक पुलिस बल को खदेड़ दिया। आक्रोशित लोगों ने बताया कि अगर पुलिस सक्रिय होती तो इस तरह की घटना नहीं हुई होती। बताते चले कि इससे पहले भी यहां पर कई ऐसे अपराधिक घटनाएं हो चुकी है.


करसौत में पुलिस चौकी बनाने की मांग


हत्या के बाद हंगामा कर रहे आक्रोशित लोगों ने मांग करते हुए कहा कि करसौत से तकरीबत पांच किलोमीटर की दायरे में पुलिस ठहराव नहीं हैं.पुलिस स्टेशन

दूर होने के कारण अपराधी मौके का फायदा उठाकर आसानी से घटना को अंजाम देते हैं.


एसपी को बुलाने की मांग पर अड़े रहे लोग


मुखिया की हत्या मामले में आक्रोशित लोगों ने कई घंटों तक सड़क को जाम कर एसपी को घटना स्थल पर बुलाने की मांग पर अड़े रहे.


घटना के तकरीबन 3 घंटे बाद पहूंचे एसडीपीओ पोल्सत कुमार


मुखिया की हत्या और सड़क जाम की सूचना पाकर तकरीबन 3 घंटे के बाद घटना स्थल पहूंचे महाराजगंज एसडीपीओ पोल्सत कुमार ने आक्रोशित लोगों को समझाने बुझाने की कोशिश की। हालांकि आक्रोशित लोग अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे.


काफी समझाने बुझाने के बाद शांत हुए लोग


इधर घटना स्थल पर एसडीपीओ तथा स्थानीय जनप्रतिनिधियों के काफी हस्तक्षेप के बाद आक्रोशित लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया गया.एसडीपीओ ने लोगों को आश्वासन दिया कि इस हत्या के पीछे जो भी अपराधी होंगे उन्हें किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा.जल्द ही अपराधी सलाखों के पीछे होंगे। इधर आश्वासन के बाद पुलिस ने शव को अपने कब्ज़े में लेकर शव को पोस्टमार्टम के लिए सीवान सदर अस्पताल भेज दिया.

मौके पर महाराजगंज एसडीपीओ पोल्सत कुमार,एसडीओ रामबाबू कुमार, महाराजगंज थानाध्यक्ष दयानंद सिंह,दरौंदा थानाध्यक्ष अजीत कुमार सिंह,दरौंदा बीडीओ दिनेश कुमार सिंह,दरौंदा सीओ पारसनाथ राय,एएसडीओ क्रिसलय श्रीवास्तव आदि रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here