शिक्षकों की हड़ताल से घबराई सरकार बना रही कोरोना वायरस की बहाना

0

दारौंदा। प्रखंड के हड़ताली शिक्षकों का हड़ताल शनिवार को 27वें दिन भी जारी रहा परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिला संयोजक अनिल कुमार यादव ने बताया कि शिक्षकों के हड़ताल से घबराकर सरकार ने कोरोना वायरस का बहाना बनाकर प्रदेश के सभी विद्यालयों में 31 मार्च तक पठन-पाठन स्थगित कर दिया है।जबकि सच्चाई यह है कि शिक्षकों की हड़ताल के वजह से प्रारंभिक विद्यालयों में 16 मार्च से होने वाला वार्षिक परीक्षा बाधित होने का डर सरकार के दिमाग में था। उन्होंने कहा कि सरकार के इस नीति को बिहार की आम जनता बखूबी समझती है।प्रखंड सचिव अनिल कुमार राम ने बताया कि हमारे आंदोलन की धार और अधिक तेज होगी। टीईटी के प्रखंड अध्यक्ष कुणाल कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री हमारे आंदोलन को कुचलने के लिए तरह-तरह के कुचक्रों का प्रयोग कर रहे हैं। लेकिन हम अपना अधिकार लिए बगैर हड़ताल से वापस नहीं लौटेंगे। धरनास्थल पर सचिव अंकित कुमार,अजय आनंद,श्रीभगवान राम,उमेश कुमार शर्मा,संजय यादव,राजु राय,पीके.दास,राम कुमार,प्रशांत निराला,नागेंद्र राम,रामधनी पंडित,बबलू खरव़ार,मुकेश राम,संजय सिंह, अनवर हुसैन,विजय यादव,साहेब राय,संजय यादव,मनोज कुमार,पारस पंडित,फूलमाला देवी,रीमा देवी,रितु सिंहा,वीमल सिंह,राकेश शाही, अमरजीत कुमार दास,हृदयानंद मांझी,रामप्रवेश यादव,अशोक भारती,राजीव तिवारी,कमलेश सिंह,मनोज सिंह,उमेश सिंह,कमलेश राम,बच्चा राय,मंसूर आलम,संजय राम,अशोक राम,सिकंदर साह सहित सैकड़ों की संख्या में हड़ताली शिक्षक उपस्थित थे.