एक लाख रुपये फिरौती के लिए चार पुलिसकर्मियों ने अपराधियों के साथ दिया घटना को अंजाम

0

जानकारी मिलते ही मच गई पुलिस महकमे में हड़कंप चारों पुलिसकर्मियों को एसपी ने किया सस्पेंड भेजा जेल।

वैशाली। जिले से एक सनसनीखेज खबर निकल कर सामने आई है जहां अपराधियों के साथ मिलकर चार पुलिसकर्मियों द्वारा एक व्यक्ति की अगवा करने का मामला प्रकाश में आते ही बिहार पुलिस महकमे में हड़कंप मच गई। बताते चलें कि बिहार में अपराधियों के साथ मिलकर इन चारों पुलिसकर्मियों ने अपहरण जैसी सनसनीखेज मामले का अंजाम दिया था। इधर जांच के दौरान एसपी गौरव मंगला ने पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर लिया है. इसके साथ ही अपहृत को सकुशल मुक्त करा लिया गया है। एसपी ने बताया कि शनिवार की रात लालगंज थानान्तर्गत टोटहां गांव निवासी शिवपूजन की पत्नी खुशबू कुमारी ने सदर थाने में सूचना दी कि उसके पति का अपहरण कर एक लाख रुपये की फिरौती मांगी जा रही है.पुलिस अभी मामले की जांच ही कर ही रही थी कि पैंथर मोबाइल के सिपाही अनिल मांझी पर बदमाशों के हमले की सूचना मिली। सर्विस रिवॉल्वर लूटने की सूचना पर पुलिस टीम घटनास्थल पर पहुंची तो वहां एक मोबाइल मिला। जांच पर वह अपहृत खुशबू के पति शिवपूजन का निकला। बताया यह जा रहा है कि पुलिसकर्मी अपराधियों के सहयोग से एक व्यक्ति का अपहरण कर एक लाख रुपये मांगे जा रहे थे। घटना को अंजाम देने के बाद शराब के नशे में सिपाही अनिल मांझी लौट रहा था तभी उसके साथ के ही कुछ अपराधियों से नोंकझोक हो गई। उन्होंने उसे पीटकर घायल कर दिया। बात छिपाने के लिए उसने रिवॉल्वर लूट की कहानी गढ़ दी। जांच के दौरान पुलिस को जानकारी हुई की अपहरण में पैंथर मोबाइल टीम-1 के सिपाही अनिल मांझी, अनिल कुमार पांडेय, हिमांशु राज के अलावा होमगार्ड मोनू कुमार शामिल थे। गिरफ्तार पुलिसकर्मियों और अपराधियों के पास से बाइक,सरकारी पिस्टल,सात कारतूस और 11 मोबाइल बरामद किए गए है सभी को जेल भेज दिया गया है.