सीवान के पूर्व सांसद बाहुबली मो.शाहबुद्दीन के पार्थिव शरीर को बिहार लाने में राजद ने नहीं किया सहयोग तो पार्टी के लोग देने लगे इस्तीफा

0

सीवान. पूर्व सांसद बाहुबली मो.शाहबुद्दीन के पार्थिव शरीर को बिहार लाने में राजद द्वारा कोई सहयोग नहीं किए जाने से खफा होकर पार्टी की कई कद्दावर नेताओं ने इस्तीफा देना शुरू कर दिया हैं। सोमवार को नवादा जिला राजद के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष कमरुलवारी धमौलवी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा कि शहाबुद्दीन जैसे शख्सियत के शव को उनके जन्मभूमि सीवान नहीं लौटा पाए तो हमलोगों के क्या अहमियत है? इतना ही नहीं राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह एवं अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष खालिद अंसारी को पत्र भेजकर इस्तीफे की सूचना दी है।

सोमवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा कि हम ईश्वर से मरहूम शहाबुद्दीन साहब की मग़फ़िरत की दुआ करते हैं और प्रार्थना करते हैं कि उन्हें जन्नत में आला मक़ाम मिले। उनका निधन पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति है। राजद उनके परिवार वालों के साथ हर मोड़ पर खड़ी रही है और आगे भी रहेगी।

इलाज़ के सारे इंतज़ामात से लेकर मय्यत को घरवालों की मर्ज़ी के मुताबिक़ उनके आबाई वतन सिवान में सुपुर्द-ए-ख़ाक करने के लिए मैंने और राष्ट्रीय अध्यक्ष ने स्वयं तमाम कोशिशें की,परिजनों के सम्पर्क में रहें लेकिन सरकार ने हठधर्मिता अपनाते हुए टाल-मटोल कर आख़िरकार इजाज़त नहीं दिया।

शासन-प्रशासन ने कोविड प्रोटोकॉल का हवाला देकर अड़ियल रुख़ बनाए रखा। पोस्ट्मॉर्टम के बाद प्रशासन उन्हें कहीं और दफ़नाना चाह रहा था लेकिन अंत में कमिशनर से बात कर परिजनों द्वारा दिए गए दो विकल्पों में से एक ITO क़ब्रिस्तान की अनुमति दिलाई गयी। ईश्वर मरहूम को जन्नत में आला मक़ाम दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here