महाराजगंज के पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह की झारखंड हाई कोर्ट में किस्‍मत का अहम फैसला टला,अशोक सिंह हत्‍याकांड में अब 3 मार्च को कोर्ट का फैसला

0

महाराजगंज। पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह की झारखंड हाई कोर्ट में किस्‍मत का अहम फैसला सोमवार को टल गया है। उच्‍च न्‍यायालय अब अगले मंगलवार तीन मार्च को अपना निर्णय सुना सकती है.बताते चलें कि विधायक अशोक सिंह हत्याकांड में प्रभुनाथ सिंह,दीनानाथ सिंह व रितेश सिंह को आजीवन कारावास की सजा मिली है। महाराजगंज के पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह पर आरोप है कि उनके इशारे पर ही अशोक सिंह की हत्‍या की गई थी।

इस मामले में निचली अदालत पहले ही प्रभुनाथ सिंह, दीनानाथ सिंह व रितेश सिंह को उम्रकैद की सजा सुना चुकी है। निचली अदालत से मिली आजीवन कारावास की सजा काट रहे प्रभुनाथ सिंह फिलहाल झारखंड के हजारीबाग जेल में बंद हैं। अदालत का फैसला आने के बाद उनके बरी होने और सजायाफ्ता होने की स्थिति साफ हो जाएगी.करीब 25 साल पहले 3 जुलाई, 1995 को पटना स्थित विधायक आवास में बम विस्फोट कर अशोक सिंह की हत्या कर दी गयी थी.वारदात के समय विधायक अशोक सिंह अपने सरकारी आवास पर लोगों से मिल रहे थे.विधायक हत्याकांड में पूर्व सांसद और आरजेडी नेता प्रभुनाथ सिंह समेत तीन आरोपितों को निचली अदालत ने दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास की सजा दी है.इधर दिवंगत विधायक अशोक सिंह की पत्नी चांदनी की लिखी हुई एक चिट्ठी वायरल हो रही है.इस चिट्ठी में उन्होंने लिखा है कि ‘मैं एक ऐसी अबला नारी हूं, जो पिछले 25 वर्षों से पति व मशरक के तत्कालीन विधायक अशोक सिंह के हत्यारे को फांसी दिलाने के लिए जंग लड़ रही हूं, किंतु जंग अब भी अधुरा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here