आठवीं सालाना पर याद किए गए पूर्व विधान पार्षद डॉ रमजान अली पेश किया गया खेराजे अकीदत

0

छपरा। सारण जिले पैग़म्बरपुर डा रमजान अली वेल्फयर एजुकेशनल सोसाइटी के तत्वावधान में स्व. डॉक्टर रमजान अली का आठवीं सालाना का आयोजन किया गया।जहा सुबह से मदरसो के छात्रो द्वारा शवाब के लिए कुरआनी फातेहॉखानी का आयोजन किया गया। जहां समाजसेवी मुजाहिद हुसैन ने स्व रमजान अली के व्यक्तित्व व् कृतित्व की चर्चा करते बताया कि डा रमजान अली पूर्व प्रधानमन्त्री चन्द्रशेखर सिंह पूर्व मुख्यमन्त्री रामसुंदर दास पूर्व केंद्रीय मंत्री रामबहादुर सिंह मुख्यमन्त्री नितीश कुमार रामानन्द विकल वर्तमान प्रदेश जद यू अध्यक्ष वशिष्ट दादा के साथ पूर्व मुख्यमन्त्री लालू प्रसाद सन्निकट और साथियो में रहे वे राष्ट्रिय स्तर के नेता होने के साथ महान समाजिक कार्यकर्ता थे जिनके मन में सभी सम्प्रदाय के लिए श्रद्धा की भावना थी।वे गरीबो के मसीहा थे वही खुर्शीद आलम ने उनके प्रारम्भिक रजनीतिक और परिवारिक जीवन की चर्चा कर बताया कि 1968 से 1974 तक बिहार के विधान पार्षद रहे और रामनोहर लोहिया आंदोलन पुरोध जेपी आंदोलन के सशक्त सिपाही के रूप में काम किया।इसी क्रम में मीसा,डीआईआर के तहत कई बार जेल की भी यात्रा करनी पड़ी।उन्होंने अपने पैतृक गांव माझी के मनसाठ पंचायत के बगोइया में और जैतपुर उच्च विधालय में रामबहादुर सिंह के साथ शिक्षण कार्य करने के बाद पैग़म्बरपुर को अपना चिकित्सकीय क्षेत्र बनाने के साथ राजनीती में स्क्रियरूप से जुड़ गए। वही रईस शाह बाबा ने उनके व्यक्तिव व् कृतिव पर विस्तार से प्रकाश डाला।मौके पर जद यू के जिलाध्यक्ष अल्ताफ आलम राजू पुलिस अ नि आफ़ताब आलम महताब आलम युवा जद यु नेता सद्दाब आलम मुन्नू मोहम्मद आमीन मोहम्मद यासीन रियाजुद्दीन शाह सहित दर्जनों लोग शामिल थे।

इनपुट:सीनियर जर्नलिस्ट चंद्रप्रकाश राज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here