विवाहिता की गला दबाकर हत्या के मामले में प्राथमिकी दर्ज,पति और देवर को जेल

0

सीवान। महाराजगंज थाना क्षेत्र के पोखरा नोनिया टोला गांव निवासी सेठ महतो की पत्नी बबीता देवी की हत्या के मामले में मृतका के चाचा दिलीप महतो के आवेदन पर थाना कांड संख्या 339/19 यह प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. आवेदक ने अपने दिए हुए आवेदन में कहा है कि मेरे भाई चैनपुर थाना क्षेत्र के माधवापुर गांव निवासी अशोक महतो जो हिमाचल प्रदेश में मजदूरी कर अपने और अपने परिवार का जीवकोपार्जन करते है। उन्होंने अपनी बेटी बबीता देवी की शादी 2010 में हिन्दु रीति रिवाज के अनुसार दान देकर महाराजगंज थाना क्षेत्र के पोखरा नोनिया टोला गांव निवासी विश्वकर्मा महतो के पुत्र सेठ महतो से की थी। शादी के बाद ही मेरी भतीजी के घर वाले दहेज के लिए मारपीट व प्रताड़ित किया करते थे। इसी सब मसले को लेकर मंगलवार की संध्या बबीता की हत्या दहेज के लिए कर दी गई. वहीं इसकी सूचना मेरे भाई के मोबाइल पर दी गयी कि आपकी बेटी की हत्या हो गयी है। इसी सूचना पर परिवार के सदस्य और बबीता देवी के भौजाई अनीता देवी के साथ अपनी भतीजी के घर पहुंचे तो देखा कि बबीता देवी की मृत शव पलंग पर था.अब ऐसा प्रतीत हो रहा था कि उसकी हत्या गले में रस्सी का फंदा डालकर किया गया है जिसका दाग गले पर है व रस्सी भी बगल में था. आवेदक ने कहा है कि हत्या संबंधित जानकारी मैनें सेठ महतो से पुछा तो वह कुछ भी नहीं बताया और भागने लगा तो इसकी सूचना थाना को दिया। इस मामले में सेठ कुमार,दशरथ महतो,ओमप्रकाश महतो, मुन्नी कुमारी और उर्मिला देवी को नामजद किया गया है. इधर घटना की जानकारी पाते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने तत्वरित कार्रवाई करते हुए पति सेठ महतो और देवर ओमप्रकाश महतो को गिरफ्तार कर बुधवार को जेल भेज दिया। वही शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here