25वें दिन भी नियोजित शिक्षकों का सरकार के प्रति आक्रोश धरना जारी

0

छपरा। बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर नियोजित शिक्षको के सात सूत्री मांगो के समर्थन मे फरवरी के उतरार्ध मे शुरू हुआ अनिश्चित कालीन हरताल व विद्यालयो मे तालावंदी अनावरत जाडी है।जिला मुख्यालय से लेकर प्रखंड मुख्यालयों तक शिक्षक -शिक्षिका अपने माॅगो पर अरे है।सरकार को शिक्षको ने अपने धरना के माध्यम से होली पूर्व हरताल खत्म कराने व सभीं माॅगो को मानने का दबाव बनाया गया लेकिन सरकार के तरफ से ठोस पहल नही होने के कारण आक्रोशित शिक्षको ने होली नही मनाई और अभीं तक हरताल पर डटे है।शिक्षक व सरकार के मध्य चल रहे आमने-सामने की लडाई मे नवनिहाल बच्चो की भविष्य अधर मे लटक गयी है।शिक्षा के अधिकार अधिनियम आज बिहार मे सूली पर लटका है इसकी भरपाई कैसे होगी!

शिक्षको के तरफ से दिघवारा,दरियापुर,गडखा व छपरा मुनिस्पल चौक पर घरना स्थल से एक ही आवाज प्रमुखता से 25 वे दिन भी छाई रही की जबतक सभीं माॅगे सरकार मान नही लेती हरताल खत्म नही होगा।गडखा मे धरना स्थल के मंच से बोलते हुए शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के अध्यक्ष मंडल सदस्य रामानुज सिंह ने कहा की सरकार की हठधर्मिता के कारण बच्चो का पठन-पाठन बाधित है। इसके बाद गडखा बी आर सी पर मढौडा मे कार्यरत शिक्षक विश्वेश्वर सिह के पिछले दिन आसमयिक निधन पर दिन मे एक बजे शोक मनाकर धरना अगले दिन तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

मुनिस्पल चौक पर धरना को संवोधित करते समन्वय समिति के अध्यक्ष कमलेश्वर राय ने कहा किसरकार हम शिक्षको की होली तो खत्म कर दिया अब बारी हमारी है हमारे माॅग पर सरकार जल्द विचार कर हरताल समाप्त नही कराया तो इस बार चुनाव मे उनको हमारी शक्ति का अंदाजा लग जाएगा।वहीं मुन्नी मनोज ने कहा हम शिक्षको का हक सरकार को देना ही पडेगा।हम भीख नही माॅग रही हमाको मूर्ख बना सरकार 17 वर्षो से काम निकाल रही अब बारी हमारी है ।वही शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के सारण जिलाध्यक्ष मंडल सदस्य सुभाष कुमार सिह ने कहा हमारे शिक्षक जग गये है अब उनके नियोजित शिक्षक कहलाने का कलंक मिटने वाला है।हम सरकार के कार्य करते है और सरकारी कर्मचारी है यह मान्यता सरकार को देना पडेगा समान-काम समान वेतन सहित हमारी सभी मागे सरकार को मानना ही पडेगा।अंत मे शिक्षको ने मढौडा के शिक्षक विश्वेश्वर सिंह के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त की और परमात्मा से उनकी आत्मा के शान्ति हेतु प्रार्थना किया और शोकाकुल परिवार की धैर्य हेतु कामना की।

मुनिस्पल चौक पर धरना मे सामिल शिक्षको मे प्रमुख थे शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के जिलाध्यक्ष कमलेश्वर राय,अरविंद यादव,सुभाष कुमार सिह, समरेन्द्र बहादुर,अमरेन्द्र कुमार सिह,मुन्नी मनोज, रिंकु कुमारी, गुडिया कुमारी, राधा कुमारी,संध्या कुमारी,संगीता कुमारी दिघवारा बी आर सी पर उपस्थित शिक्षको मे सामिल थे वीरेन्द्र कुमार सिह, मुकेश कुमार सिह, अभिषेक कुमार,रंभा कुमारी ,अनील प्रसाद दरियापुर बी आर सी पर सामिल शिक्षको मे अशोक कुमार,अनील कुमार,कुमार शैलेश,श्याम कुमार करूणेश,संजय राय,छोटे लाल कुमार ,संजीव सिह,अनीता रानी सिह,ज्योती सिह,पूनम पाण्डेय वही गडखा मे रामानुज सिह,विजय राम,अनील सिह,सुभाष यादव,अजय सिह,धर्मेन्द्र कुमार आदि शामिल रहे.

इनपुट:चंद्रप्रकाश राज/राजेश तिवारी