सरकार जो कहती है ओ करो ना,घर में रहो ना,कुछ दिन के लिए तपस्वी,लेखक,कवि,सत्य साधक बनने का प्रयास करो ना

0

आप सुरक्षित रहेंगे स्वस्थ रहेंगे तभी फूल खिलेंगे तभी बादल गरजेंगे, बच्चों की किलकारियां सुनाई देगी, घर में खुशियां होगी मांगलिक कार्यक्रम होंगे।कुछ दिन के लिए तपस्वी,लेखक,कवि सत्य साधक बनने का प्रयास कीजिए

महाराजगंज। COVID-19 का कहर चाईना से छोड़ पुरा विश्व थर्रा सा गया है वहीं पिछले दो दिनों से मरकज से आई खबर ने पुरे मानव जाती को शर्मसार करने के लिए काफी हैं,सच्चाई यह हैं कि मानवता पर सबसे बड़ा संकट है तो बस एक ही चीज कहना है संकट कि इस घडी में घबड़ाना नहीं है बस सरकार कि बात पर अकीन करना है और घर से नहीं निकलना हैं। एक चर्चा के दौरान अपने आप को सुरक्षित रहने के लिए सत् समाज सद् मार्गी मिशन सह सत् समाज के संस्थापक श्री स्वर्गानन्द जी महाराज ने बताया कि यह परीक्षा कि घड़ी है कोरोना इंसानियत को नेस्तनाबूद करने आया है कोरोना ऐसा दुष्ट हैं जो ऊंच-नीच,अच्छा कर्म बुरा-कर्म,सत्य – असत्य,बड़ा छोटा,जानने का समय नही देख रहा,बस आपकी थोड़ी लापरवाही घातक सिद्ध हो सकती हैं। इसलिए एक सिद्धांत पर चले कि”हम और कोरोना”में विजय किसकी हैं देखना यह हैं कि दुश्मन देश कि चाल का कोरोना जीतेगा या हम,कोरोना जीता तो अकेले नही जीतेगा कइयो को लपेटे में लेगा और आप जीते नहीं,सिर्फ घर में परिवार के साथ भजन किर्तन कीजिये तो हमारा देश जीतेगा। देश के प्रधानमंत्री ने ताली और थाली इसलिए नहीं बजवाई को बधाई हो उन्होंने इस लिए बजवाई कि हम राजी खुशी घर में है और आनंदित है।

लॉकडाउन को अपडाउन में ना बदलिए,लॉक है तो कोई शक नहीं।

अगर अपडाउन करेगे तो यह जिन्दगी एक सीधी रेखा में गमन करती है,तो आप फंस जाएंगे। वहीं सीवान जिले का एक ब्लॉक है जहां उस पंचायत में कुछ मरीज के मिलने के बाद पंचायत के 3 किलोमीटर रेडियस को सील कर दिया गया हैं। विशेष परिस्थिति को छोड़ कोई भी व्यक्ति नहीं 3 किलोमीटर के अंदर जाएगा और नहीं बाहर जाएगा, पूरी तरह से यह इलाका सील कर दिया गया है। यदि यह युवक कुछ और लोगों से मिला होगा तब समझिये स्थिति क्या होगी ? आपकी गाड़ी आपके ऐसो आराम की जितनी भी वस्तुएं हैं वह तुक्ष मात्र हो गया है सिर्फ एक कोरोना के चलते।

इनपुट:दिलीप कुमार सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here