मुखिया हत्या मामले में सीबीआई जांच की मांग 

0


हत्याकांड के 13 दिन बाद भी मुख्य आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर


महाराजगंज.चर्चित बलऊं मुखिया सुनील सिंह हत्या कांड के मामले में मृतक की पत्नी प्रतिमा देवी ने अपने पति की हत्या की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि मुखिया सुनील सिंह के हत्याकांड की जांच हमारा परिवार सीबीआई से कराना चाहता है ताकि दोषियों को कानून के कठघरे तक लाया जा सके और हमें न्याय मिले। सीबीआई की जांच से दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा.उन्होंने बताया कि मेरे पति एक प्रतिनिधि के रूप में जनता के द्वारा चुने गए एक सरकारी कर्मचारी थे.उनकी हत्या एक राजनीतिक षड्यंत्र के तहत की गई हैं.इसके बावजूद भी अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के मामले में प्रशासन लापरवाह हैं.प्रतिमा देवी ने अपने एकलौते पुत्र सुमित कुमार सिंह समेत परिवार वालों के सलामती व सीबीआई जांच कराने के लिए वरीय अधिकारियों से गुहार लगाई है.गौरतलब है कि सीवान-पैगंबरपुर मुख्य पथ पर करसौत पुल के पास बीते 27 सितंबर को दिनदहाड़े महाराजगंज के बलऊं मुखिया सह लेरूआंं गांव निवासी सुनील सिंह उर्फ दहाड़ी सिंह की निर्मम हत्या रविवार की दोपहर गोली मारकर कर दी गई थी.


महाराजगंज.चर्चित बलऊं मुखिया सुनील सिंह हत्या कांड के मामले में मृतक की पत्नी प्रतिमा देवी ने अपने पति की हत्या की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि मुखिया सुनील सिंह के हत्याकांड की जांच हमारा परिवार सीबीआई से कराना चाहता है ताकि दोषियों को कानून के कठघरे तक लाया जा सके और हमें न्याय मिले। सीबीआई की जांच से दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा.उन्होंने बताया कि मेरे पति एक प्रतिनिधि के रूप में जनता के द्वारा चुने गए एक सरकारी कर्मचारी थे.उनकी हत्या एक राजनीतिक षड्यंत्र के तहत की गई हैं.इसके बावजूद भी अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के मामले में प्रशासन लापरवाह हैं.प्रतिमा देवी ने अपने एकलौते पुत्र सुमित कुमार सिंह समेत परिवार वालों के सलामती व सीबीआई जांच कराने के लिए वरीय अधिकारियों से गुहार लगाई है.गौरतलब है कि सीवान-पैगंबरपुर मुख्य पथ पर करसौत पुल के पास बीते 27 सितंबर को दिनदहाड़े महाराजगंज के बलऊं मुखिया सह लेरूआंं गांव निवासी सुनील सिंह उर्फ दहाड़ी सिंह की निर्मम हत्या रविवार की दोपहर गोली मारकर कर दी गई थी.


हत्या करने की धमकी देते थे आरोपी


मृतक मुखिया की पत्नी प्रतिमा देवी ने इस मामले को सीबीआई के हवाले करने की मांग की हैं.उन्होंने कहा कि उनके पति सुनील सिंह की हत्या करने के लिए तीनों आरोपी बार-बार धमकी देते थे.हालांकि प्रशासन को इसकी शिकायत करने के बावजूद भी पुलिस ने उचित कदम नहीं उठाया कारण यही रहा कि मुखिया की हत्या हो गई.


मुखिया हत्या मामले में तीन लोगों को बनाया गया है नामजद अभियुक्त


मुखिया के इकलौता पुत्र सुमित कुमार सिंह के लिखित आवेदन पर थाना कांड संख्या 265/20 में तीन लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी.जिसमें महाराजगंज के तक्कीपुर पंचायत के भगौछा निवासी पूर्व मुखिया सुनील राय,दरौंदा थाना क्षेत्र के रसूलपुर निवासी सत्येंद्र यादव तथा बलऊं निवासी प्रदीप यादव को नामजद अभियुक्त बनाया हैं.जिसमें पुलिस ने दो आरोपी सत्येंद्र यादव व भगौछा निवासी पूर्व मुखिया सुनील राय को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.


हत्या के 13 दिन बाद भी मुख्य आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर


बलऊं मुखिया सुनील सिंह हत्या मामले के नामजद अभियुक्त प्रदीप यादव घटना के 13 दिन बाद भी पुलिस गिरफ्त से दूर है। पुलिस उसे लाख कोशिशों के बावजूद गिरफ्तार करने में नाकाम साबित हो रही है। पुलिस का दावा है कि अभियुक्त को गिरफ्तार करने के लिए गठित एसआईटी की टीमें लगी हुई हैं और जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।


क्या कहते हैं एसडीपीओ पोल्सत कुमार


महाराजगंज एसडीपीओ पोल्सत कुमार ने बताया कि मुखिया हत्याकांड मामले में अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी की टीम छापेमारी कर रही है.गिरफ्तारी के लिए जल्द ही कुर्की वारंट निकाली जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here