तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित का दिल का दौरा पड़ने से निधन,कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जताया शोक

0

सीवान: महाराजगंज दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शोक जताया है.शनिवार को करीब 03:55 बजे दिल्ली के एक्स कोर्टस अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से उनकी निधन हो गई. वह लम्बे समय से बिमार चल रही थी.पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन कि खबर मिलने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया.साथ ही उनके कार्यों को याद किया गया.कांग्रेस के प्रखंड अध्यक्ष पशुराम सिह ने कहा कि दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन से कांग्रेस ने कुशल प्रशासक खो दिया है.

शोक व्यक्त करने वाले मे रमेश उपाध्याय, काशीद हुसैन, जगदीश सिह,पूर्व मुखिया शम्भुनाथ सरोपण, विजयशंकर द्विवेदी, शमशाद आलम. महम्मद आलम, सुरेश प्रसाद. दिनेश प्रसाद, मैनूदिन अंसारी, राजेन्द्र सिंह,निजामूदिन अंसारी, मोहन यादव, ध्रुप यादव,उमाशंकर प्रसाद, बिनोद यादव, साविर मियां ने श्रद्धांजलि अर्पित की.ज्ञात हो कि दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने दिसंबर 1998 से दिसंबर 2013 तक दिल्ली की तीन बार मुख्यमंत्री रह चुकी थीं. मुख्यमंत्री रहने के बाद शीला दीक्षित केरल की राज्यपाल भी रह चुकी थी। वर्तमान में वे दिल्ली प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष थी। वे लंबे समय से बीमार चल रही थी।81 साल की उम्र में उनका निधन हो गया. वे दिल्ली की दूसरी महिला मुख्यमंत्री थी. 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांगेस पार्टी की मुख्यमंत्री पद के लिए उम्मीदवार घोषित की गई थी।शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ था. वे इसी साल हुए लोकसभा चुनाव में उत्‍तर-पूर्व दिल्‍ली से लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ीं थी। हालांकि उन्हें भाजपा के मनोज तिवारी ने हरा दिया था।निधन से कुछ दिनों पहले तक वह राजनीति में बहुत सक्रिय थी। हाल ही में उन्होंने दिल्ली के कुछ जिलों में नए जिलाध्यक्षों की नियुक्ति भी की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here