कोरोना: पोल्ट्री फार्म के मालिक ने मुफ्त में बांटा 5 हजार से अधिक मुर्गा

0

अरवल। देश-दुनिया समेत बिहार में कोरोना वायरस की अफवाहों का बाजार गर्म है,तो दूसरी तरफ लोगों ने मांस मछली तक खाना छोड़ दिया है,ऐसे में पोल्ट्री व्यवसाय से जुड़े लोगों को काफी नुकसान झेलनी पड़ी है. हालात ऐसे हो गए हैं कि पोल्ट्री व्यवसायियों को अब फ्री में मुर्गा बांटना पड़ रहा है,ऐसे ही बिहार के अरवल जिले से एक पोल्ट्री फॉर्म मालिक ने मजबूरी में आकर 5000 से अधिक मुर्गों को लोगों के बीच फ्री में बांट दिया। अरवल जिले में जैसे ही लोगों को यह जानकारी हुई कि पोल्ट्री व्यवसायी लोगों के बीच फ्री में मुर्गियां बांट रहा है. बस होना क्या था मौके पर लोगों में मुर्गा लूटने की होड़ मच गई. मुर्गा लूटने पहुंचे लोगों में किसी ने दो तो किसी ने चार मुर्गा भर-भरकर अपने साथ ले गयें। लोगों की बढ़ती भीड़ को देख पोल्ट्री मालिक अपने घर की छत पर जा खड़ा हुआ और वहां से उसने एक-एक कर मुर्गा नीचे फेंकना शुरू किया। इस तरह उन्होंने 5000 से अधिक मुर्गे लोगों में बांट दी। पूरा मामला

अरवल जिले के सदर थाना क्षेत्र के खोपड़ी गांव की है,ज्ञात हो कि कोरोना वायरस की डर के चलते लोगों ने चिकन मटन और मछली जैसे मांसाहारी भोजन खाना छोड़ दिया है,अब चिकेन का प्रोडक्शन होने के बाद भी सेल ना होने की स्थिति में बड़े-बड़े पोल्ट्री व्यवसायियों ने फ्री में ही मुर्गों को लुटाने की ठानी।पोल्ट्री के मालिक के अनुसार एक तरफ बाजार में मुर्गे की बिक्री पर ग्रहण लग गया है बीमार होने की डर से लोगों ने चिकन मांस खाना छोड़ दिया है.

इतने सारे मुर्गों को अब पोल्ट्री फॉर्म में पालना बजट से बाहर हैं. मुर्गों को दाना-पानी देने में मुश्किल हो रहा था ऐसे में मजबूरन मुझे फ्री में मुर्गा बांटना पड़ा हैं.