कोरोना: पक्षकारों को कोर्ट में आने की जरूरत नहीं उनके विरुद्ध नहीं होगी कोई कार्रवाई सत्र न्यायाधीश

0

18 मार्च से व्यवहार न्यायालय का कार्यकलाप सुबह 7:00 बजे से अपराह्न 1:00 बजे तक होगी।

सीवान। जिला एवं सत्र न्यायाधीश मनोज शंकर ने मंगलवार को कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए व्यवहार न्यायालय परिसर में अधिवक्ता और पक्षकारों को जागरूक किया।अधिवक्ताओं को जागरुक करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से घबराने की जरूरत नहीं है। बल्कि इससे बचने के लिए साफ-सफाई पर ध्यान देने की जरूरत है। कहा कि कोरोना पीड़ित के संपर्क में आए व्यक्ति से दूरी बनाए रखना जरूरी है।

क्योंकि कोरोना का वायरस एक-एक व्यक्ति से दूसरे में फैलता है। इसलिए सार्वजनिक स्थलों पर मास्क लगा कर ही जाएं। उन्होंने हाईकोर्ट द्वारा जारी आदेश को बताते हुए कहा कि 31 मार्च तक पक्षकारों को कोर्ट में आने की जरूरत नहीं है। उनके विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। वहीं दूसरी तरफ जिला एवं सत्र न्यायाधीश सीवान के टेलिफोनिक प्राप्त सूचना के अनुसार बुधवार 18 मार्च 2020 से व्यवहार न्यायालय का कार्यकलाप सुबह 7:00 बजे से अपराह्न 1:00 बजे तक होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here