कोरोना एक खतरा: चार स्पेशल ट्रेनों से पटना आ रहे है 5000 बिहारी, प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती

0
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना। एक तरफ पूरे देश में कोरोना वायरस को लेकर महामारी फैली हुई है.इसी बीच चार स्पेशल ट्रेनों से बिहार में 5000 से अधिक बिहारियों को भेजी गई है। बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से इन्हें इनके राज्य वापस लौटा दिया गया है। हालांकि एक साथ आ रहे इतने लोगों की भीड़ के सामने बिहार पुलिस को चुनौतियों का सामना करना काफी परेशानियों का सबब बना है। पटना जिला प्रशासन तथा रेल प्रशासन काफी सतर्क है.रविवार व सोमवार को पांच हजार से ज्यादा बिहारी यात्री यहां पहुंचेंगे.बिहारियों को स्पेशल ट्रेनों से दानापुर भेजा जा रहा है.जिसका मुआयना जिलाधिकारी कुमार रवि और एसएसपी पटना उपेंद्र शर्मा व एडीआरएम रवीश कुमार ने संयुक्त रूप से लिया है.कोरोना वायरस को लेकर महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा अलर्ट देखा गया है. वहां के लोगों में से मौतें भी हुई है और सबसे ज्यादा लोग प्रभावित भी हैं. यहां के मुंबई शहर में है अलर्ट है और दुकानें और मॉल बंद है. यही वजह से वहां काम करने वाले लोग इस बेरोजगारी के दौरान अपने घर लौट रहे हैं.

क्या कहते हैं जिलाधिकारी

जिलाधिकारी कुमार रवि ने बताया कि महाराष्ट्र के पुणे और मुम्बई से ट्रेन आ रही है. जिनकी जांच के लिए मेडिकल टीम लगाया गया है. जिनपर भी सक है उनका मेडिकल जांच कराया जा रहा है. वही डीआरएम दानापुर सुनील कुमार बताया कि महाराष्ट्रा से चार स्पेशल ट्रेन से बिहारिओं को भेजा जा रह है जिनकी सुरक्षा के लिए दानापुर रेल मंडल के तरफ से तैयारी किया गया है .हम अलर्ट है महराष्ट्र से आये लोगो के जांच करने के बाद ही जन्हें उनके घरों के लिए रवाना करवाया जाएगा. इसके लिए हमने दानापुर स्टेशन के आसपास के जगहों को चिह्नित किया है ताकि उनको वहां रखकर इलाज और जांच किया जाए गा आगे डीआरएम सुनील कुमार ने बताया कि रविवार व सोमवार को महाराष्ट्र से दानापुर स्टेशन पर करीब पांच हजार बिहारी आने वाले यात्रियों को स्पेशल ट्रेनों से भेजे जा रहें.