एक साल बाद कोरोना के लक्षण में बदलाव दूसरी लहर अत्यधिक खतरनाक

0

बिहार: 17 अप्रैल की बैठक के बाद नाइट कर्फ्यू, शादी में मेहमानों की संख्या तय करने जैसे फैसले लिए जा सकते हैं.


पटना. कोरोना की दूसरी लहर घातक साबित हो रही है. दिन प्रतिदिन अस्पतालों में कोरोना के संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है, बिहार की बात करें तो बिहार में प्रतिदिन 4500 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं.इस तरह कोरोना वायरस पर लगाने के लिए बिहार सरकार बड़ी फैसला ले सकती है,जानकारियां है कि 17 अप्रैल 2021 को राज्यपाल की अध्यक्षता में होने वाली सर्वदलीय बैठक बिहार में लॉकडाउन नहीं तो नाइट कर्फ्यू अवश्य लगा दी जाएगी, चर्चा यह भी है कि 17 अप्रैल की बैठक के बाद नाइट कर्फ्यू, शादी में मेहमानों की संख्या तय करने जैसे फैसले लिए जा सकते हैं,फिलहाल स्कूल-कॉलेज 18 तक बंद है. शादी समारोह में 200 औक श्राद्ध में 50 लोगों के आने की अनुमति है. नई गाइडलाइन में सार्वजनिक समारोहों और शादियों में आने वालों लोगों की संख्या को 100 या 50 करने, कोरोना के ज्यादा मामले वाले जिलों में नाइट कर्फ्यू का तक किया जा सकता है.मुख्यमंत्री ने पिछली बैठक के बाद बुलाई गई प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही साफ कर दिया था कि नाइट कर्फ्यू पर भी विचार किया जा रहा है. लेकिन सरकार की चिंता इस बात को लेकर भी है कि रात 10 से सुबह 5 तक के कर्फ्यू से फायदे की गुंजाइश कम ही है. सूत्र बताते हैं कि ऐसे में बिहार में 12 घंटे का नाइट कर्फ्यू भी लगाया जा सकता है,अभी शाम सात बजे के बाद व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को बंद करने का आदेश है. बिहार सरकार शाम 7 बजे की पाबंदी को एक घंटे पहले करके शाम 6 बजे कर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here