जेएनयू में छात्रों एवं शिक्षकों पर हमला घोर निंदनीय,मामले की उच्च स्तरीय जांच कर दोषियों पर हो उचित कार्यवाई

0

छपरा। सारण जेएनयू में छात्रों और शिक्षकों पर एबीवीपी द्वारा हमले की एआईएसएफ सारण जिला इकाई ने घोर निंदा की है. एआईएसएफ के राज्य उपाध्यक्ष राहुल कुमार यादव ने कहा कि दो दिनों जिस तरह एबीवीपी के गुंडों ने दिल्ली पुलिस एवं जेएनयू प्रशासन के शह पर छात्रों एवं शिक्षकों पर हमला किया है यह कायराना हमले बेहद निंदनीय और शर्मनाक है. उन्होंने कहा कि आज केंद्र सरकार सत्ता के नशे में चूर होकर जनविरोधी नीतियों, उन्मादी विचारों को देश की आम जनता पर थोपना चाहती है, जिसे हम कभी सफल नहीं होने देंगे। भारत धार्मिक उन्मादियों का भारत नहीं है.ये भारत सभी लोगों का है। ये राष्ट्र बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के बनाए हुए संविधान से हीं चलेगा, ना की गोडसे व मनुस्मृति के विचारों से.आज सरकार के संविधान विरोधी नीतियों के खिलाफ आंदोलनरत शैक्षणिक संस्थानों, छात्र-छात्राओं, आम जनता पर बदले की भावना से ग्रसित सरकार जुल्म ढा रही है.

देश की शैक्षिक संस्थानों पर हमले छात्र-छात्राओं पर बढ़ते हमलों के खिलाफ तमाम छात्र छात्राओं को पूरी एकजुटता के साथ सरकार के खिलाफ खड़ा होना होगा.जेएनयू छात्र शिक्षकों पर हुए हमले जिसमें जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आयशी घोष, महासचिव सतीश चंद्र यादव, देश की मशहूर भूगोलवेता सुचित्रा सेन सहित कई छात्र एवं शिक्षक घायल है केंद्र सरकार जेएनयू छात्र-शिक्षकों पर किए गए हमले की उच्चस्तरीय जांच कराए एवं दोषी लोगों के ऊपर उचित कार्रवाई करे.

इनपुट:चंद्र प्रकाश राज/पन्नालाल कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here