सशस्त्र बदमाशों ने एसबीआई शाखा के मैनेजर व कैशियर से 58 हजार की नकदी लूटी,दो बाइकों पर सवार पांच नकाबपोश बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम

0

सूचना पाकर मौके पर पहुंचे डीआईजी,एसपी, डीएसपी व थानाध्यक्ष

एकमा। सारण जिले के एकमा थाना क्षेत्र के भरहोपुर गांव स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में सोमवार को दिनदहाड़े दो बाइकों पर सवार होकर आए पांच अज्ञात सशस्त्र बदमाशों ने हथियार के बल पर शाखा प्रबंधक और खजांची को मारपीट कर घायल करने के बाद लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया। पुलिस व बैंक सूत्रों के अनुसार देर शाम 58 हजार की नकदी लूट होने की सूचना सामने आयी है.

बताया गया है कि इस दौरान बदमाशों ने शाखा परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। वारदात के दौरान घायल ब्रांच मैनेजर और कैशियर को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र एकमा में भर्ती कराया गया। जहां उपचार के दौरान चिकित्सकों ने दोनों घायलों के सिर में बैंडेज-पट्टी कर उपचार किया। दोनों की स्थिति को खतरे से बाहर बताया गया है।

इस दौरान वारदात में घायल शाखा प्रबंधक सुरेन्द्र किशोर गुप्ता व खजांची अमितेश कुमार सिंह ने सीएचसी में बताया कि उन्हें सशस्त्र बदमाशों ने पिस्टल की बट से सिर पर प्रहार करके जख्मी कर दिया। इस दौरान कैशियर के पास वितरण हेतु केबिन में रखे नकदी सहित मोबाइल फोन लूट कर बदमाश फरार हो गए। वहीं कुछ ग्राहकों का आरोप है कि बदमाशों ने ग्राहकों के साथ भी लूटपाट की घटना को अंजाम देने की कोशिश की.बताया गया है कि बदमाशों ने कैशियर के उंगलियों में पहनी हुई अंगूठी भी उतरवा लिए। इस दौरान बदमाशों द्वारा बैंक के स्ट्रांग रुम/कैश रुम की असफल तोड़फोड़ किया गया।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सभी बदमाश नकाबपोश थे। लूटपाट की वारदात को अंजाम देने के बाद वे आराम से फरार हो गए। वहीं वारदात की सूचना पाकर डीआईजी केे अलावा एसपी हरकिशोर राय, डीएसपी अजय कुमार सिंह, थानाध्यक्ष दिनेश कुमार दास ने भी मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल किया।इस दौरान बैंक स्टाफ के साथ जरूरी पूछताछ की कार्रवाई की गई.

समाचार प्रेषण तक बैंक अधिकारियों की ओर से 58 हजार नकदी लूट की राशि की जानकारी कैश की गणना के बाद सामने आयी है। उधर दिनदहाड़े हुई इस लूटपाट की वारदात को लेकर पुलिस अधिकारियों की चहलकदमी बढ़ गई है।

एकमा बाजार के अलावा आसपास के इलाकों में दिन भर बैंक लूट की वारदात की सूचना जंगल की आग की तरह फैलती रही। वहीं सोशल मीडिया पर भी कई लोगों द्वारा बैंक लूट से संबंधित अलग-अलग भ्रामक सूचनाएं प्रसारित की जाती रही। किसी ने चार लाख, किसी ने पांच लाख तो किसी ने 10 लाख रुपए की लूट की वारदात सूचना के अलावा किसी ने फायरिंग की वारदात की भी अपुष्ट सूचना को प्रसारित कर लोगों में भ्रम फैलाने का काम किया।

वहीं वारदात को लेकर एकमा, ताजपुर, मांझी, रसूलपुर, परसागढ़ आदि बाजारों से लेकर गांवों तक चर्चाओं का बाजार गर्म रहा। बहरहाल, बैंक अधिकारियों और पुलिस की जांच पड़ताल व कैश गणना संबंधी कार्रवाई पूरी होने के बाद लगभग 58 हजार रुपये ही लूटे जाने की जानकारी मिली है.

इनपुट-चंद्रप्रकाश राज/वीरेंद्र यादव
के. के.सिंह सेंगर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here