प्यार की सच्ची घटना…….

0

 कहानी लेख़क ✍अंशु आर्य (मोती)कहानी लेख़क ✍अंशु आर्य (मोती)

 ये कोई कहानी नही है यह एक सच्ची घटना हैं जो मेरे आँखो के सामने हुई है। एक लड़का को उसके भाई की साली से प्यार हो जाता है। उसका नाम अमन है। और लडकी का नाम नेहा है। अमन नेहा के लिए उसके घर जाता था उसको देखता और बिना उसको कुछ बताये फिर वापस आ जाता था ऐसा पूरा एक साल तक चला फिर भी अमन ने नेहा से अपने दिल कि बात न बता सका अमन देखने मे काफी सुन्दर और होनहार था वह नेहा से बहुत प्यार करता था लेकिन बता न पा रहा था।

वह किसी न किसी बहाने नेहा से मिलने जाता था। एक दिन अमन नेहा के घर गया था । एक बूढ़ी औरत ने नेहा को बोली की बेटी ये लड़का तेरे लिए बहुत अच्छा हैं। नेहा को इस बात का असर हुआ वो अमन को ध्यान से देखने लगी । उसे ऐसे करते देख सभी ने नेहा का मजाक उडाया सब हँसने लगे । उस दिन अमन के दिल मे प्यार का दिया और तेज जलने लागा । ऐसे ही अमन नेहा के घर ज्यादा आने जाने लगा नेहा को भी अब अमन से धीरे -धीरे प्यार होने लगा। एक दिन नेहा के घर उसके भतीजे का जन्मदिन था और अमन और उसकी भाभी यानी 

नेहा की बहन भी आई थी  उस दिन नेहा इतनी सुन्दर लग रही थी कि अमन खुद को रोक न पाया और जब मेहा उसके पास आई तो उससे बोला नेहा मुझे तुमसे कुछ कहना है नेहा बोली कहिए ।अमन बोलने मे हिचकिचा रहा था फिर भी हिम्मत करके बोला नेहा मै तुमसे

बहुत प्यार करता हूँ जब मैने तुम्हे पहली बार शादी मे देखा था  तभी मुझे तुमसे प्यार हो गया था सच  मे I love you so much नेहा ने कुछ न बोल और वहाँ से चली आई । नेहा मन ही मन बहुत खुश थी अगले दिन अमन चला गया। उस दिन नेहा को पहली बार अमन से दूर होने का दुख हुआ। धीरे -धीरे नेहा भी अमन से बहुत प्यार करने लगी। दो महिना बाद अमन फिर नेहा के घर आया नेहा को अपने साथ ले जाने के लिए अगले दिन नेहा अमन के साथ उसके घर आ गई ।अब नेहा और अमन बहुत करीब आ गये । अमन के भाभी भी चाहती थी कि अमन और नेहा एक हो जाए । देखते देखते दो महिना  बीत गया। एक दिन घर के लोग कही गये थे घर पे सिर्फ नेहा अमन और उसकी भाभी ही थी ।उस दिन नेहा ने अपने दिल की बात अमन को बता दी दोनों एक दूसरे को गले लगाया तब तक अमन की भाभी ने देख लिया इन दोनो को ऐसा देख वो बहुत खुश हुई और बोली मै तुम्हारी शादी की बात माँ से बोलती हूँ।  दस दिन बाद नेहा चली गई।उसके बाद अमन अपना प्यार पाने के लिए दिन रात पढ़ने लगा और मेहनत करने लगा नौकरी के तलास मे उसकी मेहनत रंग लाई और  उसका सेना मे सलेक्सन होगया अमन का कॉललेटर आ गया ।उसके दो दिन बाद ही उसे राजस्थन  जाना था। वह नेहा से मिलने गया और नौकरी होने की खुशखबरी दिया। ये सुनकर नेहा बहुत खुश हुई पर जब अमन ने जाने की बात बताई तो वह रोने लगी । अमन ने उसे समझाया और बोला में वहाँ जाते ही तुम्हे फोन करूगा। अमन राजस्थान चला गया। वहाँ ट्रेनिग में होने के कारण वह नेहा को फोन न कर पाया। इधर फोन न आने पे  नेहा बहुत दुखी और अमन से गुस्सा थी । अगले दिन अमन का फोन आया । नेहा उससे बहुत गुस्सा थी फिर अमन के sorrry बोलने पे मान गई।  ऐसे दोनो फोन पर बात करते रहे । इधर अमन के नौकरी हो जाने से  इसके घर वाले अमन का रिश्ता तय कर दिया । ये खबर जानने के बाद  अमन की भाभी बहुत  दुखी हुई  और वो अपने सास को बताई कि अमन नेहा से प्यार करता है और उसी से शादी करेगा। लेकिन अमन की माँ ने साफ मना कर दिया। फिर ये खबर अमन को पता चला की उसके घर वालो ने उसे बिना बताये उसकी शादी कही ओर तय कर दी है अमन ने इस रिश्ते से इन्कार कर दिया और बोला मैं सिर्फ नेहा से ही शादी करूगा । सब घर वाले नेहा और अमन  के रिश्ते से  बहुत निराश थे। पूरे दो साल हो गया। फिर एक दिन नेहा के पापा रिश्ता लेके आये। अमन के घरवालो ने साफ मना कर दिया। अमन अपनी माँ को समझाया बहुत मानाया। अपने बेटे के इस कदर बात करते देख उसने बेटे की प्यार को मंजुरी दे दी । फिर घर वाले सब मान गये ।बहुत कठिनाइरयो के बाद अमन के पापा भी मान गये। फिर दोनो का शादी तय हुआ और दो महिना बाद शादी हो गयी । दो साल बाद नेहा को एक बहुत ही प्यारा बच्चा हुआ। ये सुंदर जोड़ी आज भी खुशी-खुशी एक साथ अपनी प्यार भरी जिन्दगी जी रहे है। कहा जाता है कि अगर प्यार सच्चा हो तो चाहे कितनी भी मुश्किल आये प्यार मिलता जरूर है।

                        

                              

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here