विज्ञान प्रदर्शनी मेला में नौनिहालों ने पेश कि अपनी रचनात्मकता।

0

 ‎◆विज्ञानप्रदर्शनी मेला का उद्घाटन योगेन्द्र सिहं ने किया।

 ‎◆स्कूल के निदेशक डाँ बी.के.सिहं ने कहा बच्चे कल के भबिष्य है।

सीवान: ‎महाराजगंज अनुमंडल मुख्यालय के आचार्य सुदर्शन पब्लिक  स्कूल के बच्चों ने विज्ञान प्रदर्शनी मेले का आयोजन किया। प्रदर्शनी का आयोजन विद्यालय के निदेशक डाँ कैप्टन बी.के.सिहं के देख रेख में आयोजित किया गया,जिसमें बच्चों ने एक से बढ़कर एक आकर्षक परियोजनाओं को पेश किया। विज्ञान प्रदर्शनी मेले का उद्घाटन भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के अध्यक्ष योगेन्द्रसिंह, जिलाध्यक्ष अनिल कुमार तिवारी सामुहिक रूपसे फीता काटकर किया।प्रदर्शनी मेले के आयोजन मे पहुचे अभिभावकों को संबोधित करते हुए श्री सिहं ने कहा की यही बच्चे कल के भारत के भविष्य हैं। बच्चे भगवान का रूप होते हैं। इनके मन में मैल या कपट नहीं होता है। ये सभी से निश्छल प्रेम करते हैं और बड़ों के दिए गए संस्कारों का पालन करते हैं। अपनी इसी निर्दोष वृति के कारण बच्चे लगभग सभी का मन मोह लेते हैं। और इन्ही प्यारे बच्चों को समर्पित होता है आज का यह पावन अवसर, श्री योगेन्द्र सिहं ने बच्चों को संबोधन में कहाँ कि थोड़ी सी मुश्किलें राम सीता लक्ष्मण पर भी आई थी, जिसका सामना उन्होंने निडरता के साथ किया था तो हम पर भी यदि कोई मुश्किलें आए तो मुकाबला करते हुए मंजिल तक पहुचना चाहिए।

आज का दिन बच्चों का दिन… एक ऐसा दिन जो सिर्फ बच्चों के लिए समर्पित है। यह दिन ख़ास है क्योंकि ये उन नौनिहालों का दिन है जो कल देश का भविष्य बनेंगे। इस बिज्ञान प्रर्दशनी के दिन को मनाने के पीछे का उद्देश्य बच्चों के अधिकारों, संरक्षण व शिक्षा को बढ़ावा देना है। जितना ही अच्छा संस्कार देंगे जितना ही शक्तिमान बनाएंगे उतना ही संस्कारी और शक्तिशाली हमारा कल का भविष्य बनेगा हमारे दिए हुए संस्कारों को ही कल बच्चें अपनाएंगे अतः हमें अच्छी शिक्षा और अच्छे संस्कार से ही हमारा भारत का भविष्य होगा अतः हम सब अभिभावकों का यह कर्तव्य बनता है कि अपने बच्चों को शिक्षित संस्कारी मानवता का पाठ अवश्य पढ़ाए बच्चों का पालनपोषण सावधानी व प्रेमपूर्वक किया जाना चाहिए, क्योंकि वे देश का भविष्य और कल के नागरिक हैं। कलाओं का प्रदर्शन करते हैं। बिज्ञान प्रदर्शनी कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले उत्साही बालक-बालिकाओं को स्कूल प्रशासन द्वारा उचित पुरस्कार प्रदान कर  प्रोत्साहित किया जाता है। वही विद्यालय के प्राचार्य सुरज कुमार ने कहा कि हमारा विद्यालय समाज के उपेक्षित बच्चों के लिए भी शिक्षा की व्यवस्था की हैं। वही दीप्ती सिहं ने कहा कि गरीब, असहाय बच्चों को उनका बचपन दिलाने की दिशा में मैं ऐसी दुनिया का ख्वाब देखता हूँ जहाँ बाल श्रम ना हो, एक ऐसी दुनिया जिसमे हर बच्चा स्कूल जाता हो। एक दुनिया जहाँ हर बच्चे को उसका अधिकार मिले।विज्ञानप्रदर्शनी मेला  अभिभावको समेत शहर के गणमान्य व्यक्ति पहुंचे थे तथा विद्यालय परिवार के नित्यानंद तिवारी , संजना सिंह , रश्मि सिहं , सुमन श्रीवास्तव, नीता सिंह छात्र-छात्राओं मे ज्योति, श्रूति, प्रिती, अजय,सेराज,सोहेल, अनमोल, के आलावे हाजारों अभिभावक व नन टीचिंग स्टाँप  मौजूद रहे।